MP Cop News: जमाना बदल गया है उसके अनुसार मैदान में लेना चाहिए फैसला: डीजीपी 

Share

MP Cop News: प्रधानमंत्री के स्‍मार्ट पुलिसिंग अवधारणा को दिखाने का अवसर, 42वें परिवी‍क्षाधीन पुलिस उप अधीक्षक प्रशिक्षण सत्र का समापन

MP Cop News
भौंरी स्थित पुलिस प्रशिक्षण अकादमी में डीजीपी सुधीर सक्सेना बेहतर दक्षता परीक्षा में उत्तीर्ण परीवीक्षाधीन महिला अधिकारी को प्रमाण पत्र सौंपते हुए। चित्र पुलिस मुख्यालय जनसंपर्क विभाग से जारी।

भोपाल। जमाना काफी बदल गया है। सभी क्षेत्रों में बहुत तेजी से बदलाव हुआ है। हमारे सामने कई नई चुनौतियां है। अब वर्दी के साथ जनमानस के अनुरूप आचरण की आवश्यकता है। यह विचार मध्यप्रदेश पुलिस महानिदेशक सुधीर सक्सेना ने व्यक्त किए। वे भौंरी स्थित पुलिस अकादमी (MP Cop News) में 42वें परिवीक्षाधीन उप पुलिस अधीक्षक प्रशिक्षण सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा नए परिवर्तनों के लिए अकादमी ने आपको तैयार किया है। अब अपने व्यवहारिक ज्ञान के सर्वोत्तम उपयोग से आप एक उत्कृष्‍ट पुलिस अधिकारी बन सकते हैं।

महिलाओं के प्रति ज्यादा जवाबदेही

डीजीपी ने कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस की एक गौरवशाली परंपरा रही है। अब उसको आगे ले जाने जिम्मेदारी आपके कंधे पर है। प्रधानमंत्री स्मार्ट पुलिसिंग की नवीन अवधारणा को अपने कार्यप्रणाली में हमेशा ही शामिल करते हुए आपको चलना है और नवाचारों को अपनाना है। लोकतंत्र में जन मानस की अपेक्षा और भावनाओं के आधार पर लोकहित को ध्यान में रखकर ही पुलिस को कार्रवाई करना चाहिए। हमें स्वयं जनता की अपेक्षाओं पर कानून और प्रक्रिया का पालन करते हुए खरा उतरना है। डीजीपी सुधीर सक्सेना (DGP Sudhir Saxena) ने कहा कि कुछ सालों में सामाजिक, आर्थिक, तकनीकि सहित समस्त क्षेत्र में बहुत बदलाव हुए हैं। यह पुलिस के सामने नवीन चुनौतियां लेकर आएं हैं। प्रदेश में नक्सलवाद, अलगाववाद, साम्प्रदायिकता, संगठित अपराध, सायबर क्राइम, कमजोर तत्वों विशेष तौर पर महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों के प्रति हमारी जिम्मेदारी बड़ी है।

नौ महिला अधिकारी प्रशिक्षण में रही शामिल

डीजीपी ने कहा कि न्यायपालिका के समक्ष सुस्पष्ट तथ्यों को रखना भी हमारी जिम्मेदारी है। डीजीपी सक्‍सेना ने कहा पुलिस को और अधिक व्यवसायिक दक्षता के साथ कानून और प्रक्रिया को समझकर व्यवहारिक रूप में इसको अपनाना है। आने वाले विभिन्न मुद्दों और पहलुओं में टकराव होने की स्थिति में आपसी तालमेल भी करना होता है। प्रत्येक पुलिसकर्मी को स्वयं का स्किल डेवलपमेंट विशेष तौर पर नवीन तकनीकों का ज्ञान होना आवश्‍यक है। कार्य की अधिकता के दौरान भी स्वयं के शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य का प्रबंधन रखना भी आपका ही दायित्व है। भौंरी उपनिदेशक मलय जैन (Malay Jain) ने बताया कि 42 वें उप पुलिस अधीक्षक बैच के इस प्रशिक्षण सत्र में 9 महिला अधिकारी एवं 16 पुरुष अधिकारियों सहित कुल 25 प्रशिक्षु शामिल थे। जिन्हें एक वर्ष का कठिन प्रशिक्षण मध्यप्रदेश पुलिस अकादमी की तरफ से दिया गया है।

सर्वाधिक पुरस्कार पाने वाले अफसर

MP Cop News
भौंरी स्थित पुलिस प्रशिक्षण अकादमी में डीजीपी सुधीर सक्सेना बेहतर दक्षता परीक्षा में उत्तीर्ण परीवीक्षाधीन अधिकारी को प्रमाण पत्र सौंपते हुए। चित्र पुलिस मुख्यालय जनसंपर्क विभाग से जारी।

मलय जैन (Malay Jain) ने कहा कि प्रशिक्षण अवधि में कोरोना काल के दौरान इस बैच के उप पुलिस अधीक्षकों ने अपने प्रशिक्षण के साथ ही फील्ड में एक्टिव ड्यूटी भी की है। इन प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण सत्र में (MP Cop News) विभिन्न विषय जैसे- पुलिस संगठन एवं प्रशासन, अपराध अनुसंधान, विधि विज्ञान, थाना प्रबंधन एवं पर्यवेक्षण अधिकारी के रूप में निरीक्षण, अपराधों की रोकथाम, कार्यालयीन प्रक्रिया, मानव अधिकार, प्रबंध कौशल, व्यक्तित्व विकास के साथ माइनर एक्‍ट एवं मेजर एक्‍ट, विवेचना आदि का भी प्रशिक्षण दिया गया। इस प्रशिक्षण अवधि में इन्‍हें राज्य के बाहर के संस्थान जैसे टाटा इन्स्टीट्यूट आफ सोशल साइसेंस (टीआईएसएस) मुबंई तथा एनएलयू नईदिल्‍ली में भी प्रशिक्षित किया गया है। आधुनिक पुलिसिंग की चुनौतियों के लिए तैयारी करते हुए जेएनपीए, सागर फोरेंसिक लैब, एससीआरबी, डायल-100, सायबर सेल, एसडीआरएफ, विधि विज्ञान प्रयोगशाला आदि महत्वपूर्ण संस्थानों का भ्रमण कराया गया है। विभिन्न विधाओं में प्रशिक्षण के साथ ही इन प्रशिक्षुओं को आधुनिक हथियारों के संचालन एवं जंगल टेक्टिस में भी माहिर बनाया गया है। डीजीपी ने सम्पूर्ण परीक्षा में सर्वोच्च अंक प्राप्त कर प्रथम स्‍थान पर रहे प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक रवि शर्मा और दूसरे स्थान पर रही प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक प्रतिभा शर्मा को पुरुस्कृत किया। सर्वाधिक पांच पुरस्कार प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक शेखर दुबे को प्राप्त हुए।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: दुकान के भीतर बुलाकर सात साल की बच्ची से गंदी हरकत

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Cop News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!