MP Hindi News: सफाई पर कमिश्नर तो रेत के कारण एसपी की गई कुर्सी

Share

MP Hindi News: नए साल की पहली ही समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का मास्टर स्ट्रोक


MP Hindi News
The Display

भोपाल। मध्य प्रदेश (MP Hindi News) की राजनीति में बहुत बड़ा बदलाव देखा जा रहा है। यह बदलाव मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अचानक बदली कार्यशैली को लेकर है। दरअसल, प्रशास​निक हलकों में इस बात को लेकर ज्यादा चर्चा गर्म है। इसी चर्चा के बीच सोमवार को फिर प्रशासनिक अफसरों को मुख्यमंत्री ने हलाकान कर दिया। उन्होंने आठ घंटे चली मैराथन बैठक में ग्वालियर निगम कमिश्नर और कटनी एसपी को हटाने के आदेश दे दिए। मुख्यमंत्री (CM Shivraj Singh Chouhan Order) ने कहा कि जनता से जुड़े मुद्दों पर अफसर सक्रिय हो जाए। उन्होंने चेतावनी भी दी है कि अफसर मैदान में जाकर जनता से संवाद करके समस्या का समाधान करें।

मुद्दा ही दबा रहा गया

MP Hindi News
शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री- File Photo

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्वालियर निगम कमिश्नर संदीप माकिन (Sandip Makin) को हटा दिया। दरअसल, शहर में सफाई कर्मचारी हड़ताल पर हैं। उन्हें चार महीने से वेतन नहीं मिल रहा है। कर्मचारी कचरा न उठाने के साथ—साथ प्रदर्शन के लिए फेंक भी रहे हैं। इस दौरान हाथापाई भी हुई है। इसके मुकदमे भी थाने में दर्ज है। सीएम की सख्ती पर यह मामला संज्ञान में लिया गया। आनन—फानन में दो महीने के वेतन का भुगतान कर दिया गया। लेकिन, दो महीने के वेतन का भुगतान होना अभी भी बाकी है। सफाई कर्मचारी अभी भी हड़ताल पर है। यूनियन की मांग है कि एफआईआर वापसी के साथ—साथ दो महीने के वेतन का भुगतान किया जाए।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Rape Case: बलात्कार के आरोपी को पीड़िता की मां थाने पकड़कर ले गई

यह भी पढ़ें: कोरोना के बाद लॉक डाउन का भोपाल के इस व्यक्ति पर पड़ा असर, लेकिन फायदा कोई दूसरा ले गया

एसपी इसलिए नपे

ग्वालियर संभाग उप चुनाव (MP Bye Election) से पहले ही सुर्खियों में था। इस कारण यहां निर्णय को लेकर काफी संवेदनशीलता बरती जाती रही है। ग्वालियर निगम कमिशनर के बाद कटनी एसपी ललित शाक्यवार (SP Lalit Shakyawar) को हटा दिया गया। एसपी को रेत खनन के मामले में हटाया गया हैं। मुख्यमंत्री ने भिंड कलेक्टर वीरेंद्र सिंह रावत (Virendra Singh Ravat) को कार्यशैली में सुधार की नसीहत दी है। बहरहाल इस पूरी कवायद के बीच प्रशासनिक महकमे में इस एक्शन को लेकर भीतर ही भीतर कानाफूसी शुरु हो गई है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!