Corrupt Officer: रिटायर्ड मंडी सचिव के तीन ठिकानों पर लोकायुक्त पुलिस का छापा

Share

सोने—चांदी के जेवर, नकदी, जमीन—मकानों के दस्तावेज हुए बरामद, भोपाल, शुजालपुर और पचोर इलाके में एक साथ छापे मारे गए

Corrupt Officer
भोपाल में लोकायुक्त पुलिस कार्रवाई करते हुए

भोपाल। मंडी से रिटायर्ड सचिव परमानंद व्यास (Corrupt Officer) के ठिकानों पर उज्जैन लोकायुक्त पुलिस ने छापे (Lokyukta Police Raid) मारे। छापे की यह कार्रवाई भोपाल, शुजालपुर के अलावा पचोर में की गई। लोकायुक्त पुलिस ने छापा  व्यास के रिश्तेदारों के घरों पर भी मारा था।
जानकारी के अनुसार परमानंद व्यास अकाउंटेंट के पद से रिटायर हुए थे। वे शुजालपुर में तैनात थे। परमानंद शुजालपुर में मंडी में लेखाधिकारी हैं। जबकि आनंद मोहन व्यास सचिव रहे हैं। दोनों की तैनाती के दौरान वित्तीय अनियमितता (Financial Irregularity) करते हुए आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के आरोप लगे थे। शिकायत की जांच के बाद लोकायुक्त पुलिस ने आरोपों को साबित पाया। जिसके बाद लोकायुक्त पुलिस ने आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज कर लिया। मामला दर्ज करने के बाद लोकायुक्त पुलिस ने छापे (Lokyukta Raid) मारे। भोपाल में मिसरोद के नजदीक कोरल वुड (Koral Wood) में छापा मारा गया। यहां परमानंद के भाई नित्यानंद व्यास रहते हैं। नित्यानंद वकील भी है। इसके अलावा एक टीम जवाहर चौक भी पहुंची थी। लोकायुक्त पुलिस को 27 लाख रुपए का सोना (Ornament), दो लाख रुपए की चांदी, दो फ्लैट के दस्तावेज, एक कार्यालय के दस्तावेज, दो कार, दो लाख रुपए नकद मिले हैं। लोकायुक्त पुलिस बैंक डिटेल भी खंगाल रही है। आरोपी भाईयों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अ​धिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। एसपी लोकायुक्त राजेश मिश्रा का कहना है कि अभी आय से अधिक संपत्ति (Disproportionate Assets) की रकम के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है। लेकिन, प्राथमिक आकलन में यह रकम चार करोड़ रुपए पहुंच रही है। लोकायुक्त पुलिस ने व्यास भाईयों के लेखों की देखरेख करने वाले सीए को भी नोटिस देकर तलब किया है।

यह भी पढ़ें:   Sehore Scam : 12 लाख मंजूर कराए, काम 2 लाख का रुपए का किया
Don`t copy text!