Jhabua Assembly By Election : भाजपा विधायक रमेश मेंदोला गिरफ्तार

Share

आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के तहत मामला किया गया दर्ज

भाजपा विधायक रमेश मेंदोला, फाइल फोटो

झाबुआ। झाबुआ विधानसभा उपचुनाव (Jhabua Assembly By Election) के आखिरी दौर में राजनीतिक तड़का लग गया है। इंदौर की विधानसभा क्रमांक 2 से भाजपा विधायक रमेश मेंदोला (BJP MLA Ramesh Mendola) को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक उनके आदर्श आचार संहिता (Model Code Of Conduct) के उल्लंघन के तहत धारा 188 और 171 के तहत मामला दर्ज किया गया है। रमेश मेंदोला (Ramesh Mendola) के मोबाइल और वाहन को भी जब्त किया गया है। वहीं उनके ड्राइवर के खिलाफ भी कार्रवाई की गई है। पुलिस ने ये कार्रवाई अंतरवेलिया चौकी के पास पिपलिया गांव में की है। दोनों आरोपियों को वहीं से गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि झाबुआ सीट पर हो रहे उपचुनाव में कल मतदान होना है।

मेंदोला की गिरफ्तारी के बाद एक बार फिर कांग्रेस (MP Congress) हमलावर हो गई है। मीडिया विभाग की प्रभारी शोभा ओझा (Shobha Ojha)  ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने कहा कि भाजपा (MP BJP) पिछले 15 वर्षों में कमाए गए भ्रष्टाचार के पैसों का इस चुनाव में खुलकर दुरुपयोग कर रही है। झाबुआ उपचुनाव में इंदौर के भाजपा विधायक और भानू भूरिया के चुनाव संचालक रमेश मेंदोला सहित अन्य भाजपा नेताओं की गिरफ्तारी के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि भारतीय जनता पार्टी द्वारा आदर्श चुनाव आचार संहिता का खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा है।

ओझा ने कहा कि जिस तरह से धनबल और बाहुबल का प्रयोग किया जा रहा है, पैसे और शराब का प्रलोभन दिया जा रहा है, उससे साफ है कि भारतीय जनता पार्टी अपनी हार क हार को भांप कर साम-दाम-दंड-भेद के माध्यम से  येन- केन-प्रकारेण इस चुनाव को जीतने की नाकाम कोशिशें कर रही है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: मां ने पकड़ा करते फोन पर बात, थाने पहुंचा विवाद

ओझा ने कहा कि रमेश मेंदोला (Ramesh Mendola) के साथ ही भाजपा नेता गौरव रणदिवे (Goarav Raddive) और मनोहर सेठिया (Manohar Sothiya) की गिरफ्तारी यह सिद्ध करती है कि भारतीय जनता पार्टी के पास उपलब्धियों के नाम पर बताने को कुछ नहीं है और वह कांग्रेस सरकार के द्वारा पिछले नौ महीनों में किए गए कार्यों के विरुद्ध जनता के बीच कोई ठोस दुष्प्रचार नहीं कर पा रही है, इसलिए वह इस चुनाव में पिछले 15 वर्षों में कमाए गए भ्रष्टाचार के धन से जनता को प्रलोभन देने का हर संभव प्रयास कर रही है।

वहीं भाजपा ने झाबुआ पुलिस और प्रशासन सरकार के दबाव में काम करने का आरोप लगाया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह (Rakesh Singh)  ने कहा कि झाबुआ के प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों को स्पष्ट संदेश दिया है कि वे सरकार के अनैतिक दबाव में आकर चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने की कोशिश ना करें। सिंह ने कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं को अनेक स्थानों से ऐसी सूचनाएं और साक्ष्य मिल रहे हैं कि प्रशासनिक अधिकारी सरकार की नजर में अपने नंबर बढ़ाने के लिए चुनाव प्रक्रिया को अनैतिक रूप से प्रभावित करना चाहते हैं। हम स्पष्ट करना चाहते हैं यदि निष्पक्ष मतदान में कोई भी गड़बड़ी प्रशासन और पुलिस के स्तर पर की गई तो हम राज्य निर्वाचन आयोग और केंद्रीय निर्वाचन आयोग को साक्ष्यों के साथ शिकायत करेंगे।

Don`t copy text!