Bhopal Wife Kidnapping Case: शर्तो पर हुई थी शादी, उसे तोड़ने पर पत्नी को किया अगवा

भोपाल के देहात इलाके की यह रोचक घटना, खबर मिलने के बाद पुलिस ने अपहरण का किया मामला दर्ज

Bhopal Wife Kidnapping Case
शादी की शर्त तोड़ने पर अपहरण करने वाला पति

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) भारतीय समाज में शादी को लेकर कई परंपराएं हैं। उत्तर से लेकर दक्षिण तक तो पूर्व से लेकर पश्चिम तक सभी जगह अलग—अलग रीति रिवाज भी है। कहीं दिन में शादी होती है तो कहीं शादी के बाद पति मायके में कुछ दिन गुजारता है। ऐसे ही एक परंपरा का रोचक मामला (Madhya Pradesh Crime News In Hindi) थाने पहुंचा है। घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के देहात क्षेत्र में स्थित नजीराबाद थाना इलाके की है। पुलिस ने इस मामले में अपहरण (Bhopal Kidnapping Case) का मुकदमा दर्ज किया है। आप सुनकर हैरान हो जाएंगे कि जिस युवती का अपहरण हुआ है आरोपी उसका पति ही है। फिलहाल पुलिस ने आरोपी (Madhya Prades Wife Kidnapping Case) को गिररफ्तार कर लिया है। उसने जो कहानी बताई है वह सुनने के बाद पुलिस के अफसर भी हैरान है।

नजीराबाद थाना पुलिस ने www.thecrimeinfo.com (द क्राइम इंफो डॉट कॉम) को बताया कि सोमवार रात साढ़े ग्यारह बजे की यह घटना है। जिसकी रिपोर्ट मंगलवार दोपहर सवा बारह बजे दर्ज की गई। आरोपी बलवीर अहिरवार (Balveer Ahirwar) और उसको चचेरा भाई धर्मेद अहिरवार (Dharmendra Ahirwar) है। दोनों पर अपहरण की एफआईआर दर्ज हुई है। पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी नजीराबाद में रहने वाली रामबाई अहिरवार (Ram Bai Ahirwar) को अगवा कर ले गए थे। आरोपी उसको बाइक से उठा ले गए (Husband Kidnapping Wife) थे। इसकी सूचना तत्काल मिलने के बाद पुलिस ने घेराबंदी करके आरोपी बलवीर अहिरवार को गिरफ्तार कर लिया। वह मेघरा नदी किनारे खाली मैदान से पकड़ाया। जबकि उसका चचेरा भाई भागने में कामयाब रहा। उसने पुलिस को जो जानकारी दी उसके बाद अफसर भी हैरान रह गए।

यह भी पढ़ें:   Police Constable Suicide Attempt : आईपीएस एसोसिएशन ने भी चेताया था, फोर्स अकेला महसूस न करे

दुश्मनी के साथ प्यार

मामले की जांच कर रहे एएसआई एसएस सेंगर (ASI S S Sengar) ने बताया कि इस मामले में नारायणी बाई को फरियादी बनाया गया है। वह गिरफ्तार आरोपी की सास है। आरोपी बलवीर अहिरवार ने कहा कि उसकी शादी नारायणी की बेटी रामबाई के साथ दो साल पहले हुई थी। जब शादी हुई थी तो यह तय हुआ था कि नारायणी के बेटे के साथ उसकी बहन की शादी होगी। नारायणी ने बेटी की शादी करा दी। उसके बाद वह मुकर गई। नतीजतन, रामबाई अहिरवार को उसके मायके में भेज दिया गया था। वह कुछ दिन उसके साथ रहा है। इस कारण उसको उससे लगाव हो गया था। वह उसके बिना नहीं रहना चाहता था। इसके अलावा नारायणी के परिवार को सबक भी सिखाना चाहता था। इसलिए उसने आधी रात को पत्नी को अगवा करने का फैसला किया। वह पत्नी को आंगन में सोते वक्त उठा ले आया था।

यह है चलन

गांव में भाई—बहन की शादी एक साथ करने का पुराना चलन है। इसके अलग—अलग नाम है। इसमें से प्रचलित अट्टा—बट्टा और आटा—साटा भी है। इसमें दो अलग—अलग परिवार के भाई—बहन एक—दूसरे के परिवार में शर्त के साथ शादी करते है। इसको ही आटा—साटा कहते है। इसके अलावा तीन तिहाई शादी की भी परंपरा हैं। इसमें मामा—मौसी के यहां शादी कराने के बाद व्यक्ति अपनी शादी उस परिवार में से किसी एक के साथ करता है। उसको तीन तिहाई शादी कहते हैं।

अपील

देश वैश्विक महामारी से गुजर रहा है। हम भी समाज हित में स्पॉट रिपोर्टिंग करने से बच रहे हैं। इसलिए समाज और लोगों से अपील करते हैं कि यदि उनके पास भ्रष्टाचार, कालाबाजारी या जिम्मेदार अफसरों की तरफ से लापरवाही की कोई जानकारी या सूचना हैं तो वह मुहैया कराए। www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!