Bhopal Suicide Case: पति की पुरानी एफआईआर बनी सबूत

फांसी लगाने वाली महिला के परिजनों ने दर्ज कराए थे बयान, आरोपी पति गिरफ्तार

Bhopal Crime
सांकेतिक चित्र

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) महिला की एक खुदकुशी के मामले में पुलिस ने मंगलवार को आपराधिक मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) के देहात क्षेत्र स्थित बैरसिया इलाके की है। यहां एक पखवाड़े पहले महिला ने फांसी (Bhopal Hanging Case) लगाकर जान दी थी। पुलिस इस मामले की जांच कर रही थी। जांच में पता चला कि महिला को उसका पति मरने के लिए उकसाता (Bhopal Suicide Case) था। पुलिस को सबूत के तौर पर थाने में दर्ज एफआईआर से कई पुरानी बातों का खुलासा करने में कामयाबी भी मिली। आरोपी पति को गिरफ्तार करके पुलिस ने उसको जेल भेज दिया है।

बैरसिया थाना पुलिस न www.thecrimeinfo.com (द क्राइम इंफो डॉट कॉम) को बताया कि रोशनी बाई अहिरवार पति राम बाबू अहिरवार उम्र 30 साल ने 3 मई को फांसी लगा ली थी। परिवार यहां ग्राम बेहटा इलाके में रहता था। राम बाबू अहिरवार (Ram Babu Ahirwar) को शराब पीने की बुरी लत थी। जिसकी वजह से पति—पत्नी के बीच विवाद होता रहता था। आरोपी अक्सर पत्नी से शराब के नशे में मारपीट भी करता था। इसी कलह की वजह से एक साल पहले रोशनी (Roshni Bai Ahirwar Suicide Case)  ने आग लगाकर आत्महत्या की कोशिश कर चुकी थी। उस वक्त पुलिस ने रामबाबू के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके उसको गिरफ्तार किया था। इस मामले में कुछ महीने पहले ही जमानत पर वह बाहर आया है। उसकी हरकतें नहीं सुधरी और फिर वह दोबारा मारपीट करने लगा था। इन्हीं बातों से तंग आकर रोशनी (Roshani Bai Ahirwar) ने फांसी लगाई थी। पुलिस ने इस मामले में रोशनी के परिजनों के बयान दर्ज किए। जिसके आधार पर आरोपी पति रामबाबू अहिरवार के खिलाफ आत्महत्या (Bhopal Provoke Suicide Case) के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज किया गया। आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद उसको अदालत में पेश किया गया। जहां से उसको जेल भेजने के आदेश दे दिए गए।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: वृद्धा ने मौत का सामान समेटकर जीवन देने वाली दवा में रख दिया

अपील

देश वैश्विक महामारी से गुजर रहा है। हम भी समाज हित में स्पॉट रिपोर्टिंग करने से बच रहे हैं। इसलिए समाज और लोगों से अपील करते हैं कि यदि उनके पास भ्रष्टाचार, कालाबाजारी या जिम्मेदार अफसरों की तरफ से लापरवाही की कोई जानकारी या सूचना हैं तो वह मुहैया कराए। www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!