Bhopal Suicide Case: पत्नी की पिटाई के बाद पति फंदे पर झूला

Share

Bhopal Suicide Case:  युवती समेत दो व्यक्तियों की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत

Lovers Commit Suicide
सांकेतिक चित्र

भोपाल। पत्नी की पिटाई के बाद पति फंदे पर झूल गया। इधर, संदिग्ध परिस्थितियों में युवती की मौत हो गई। दोनों घटनाएं मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की है। युवक नगर निगम मेें सफाई कर्मचारी था। घटना वाली रात उसने शराब के नशे में पत्नी के साथ मारपीट कर दी थी। डर के कारण पत्नी जेठ के घर चली गई। इधर, झांकी पर हवन के दौरान बच्ची को उल्टियां होने लगी। इलाज के लिए परिजन भटकते रहे। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिए हैं।

नगर निमग का है कर्मचारी

अयोध्या नगर थाना पुलिस ने बताया अनिल बंसल 24 साल का था। जांच अधिकारी प्रधान आरक्षक श्याम मोहन तिवारी ने बताया अनिल काकड़ा बस्ती का रहने वाला था। अनिल नगर निगम में सफाई कर्मचारी था। उसके दो महीने का बच्चा भी है। सारा परिवार आसपास में ही रहता है। रविवार रात अनिल शराब के नशे में घर पहुंचा था। इसी बात को लेकर पत्नी से उसका विवाद हुआ। गुस्से में अनिल ने पत्नी की जमकर पिटाई लगा दी।

जेठ के घर से लौटी थी पत्नी

जांच अधिकारी ने बताया अनिल के डर से पत्नी रात उसके जेठ के घर चली गई थी। पत्नी सोमवार सुबह सात बजे घर पहुंची तो अनिल बिजली के तार से फंदा बनाकर लटका था। मौके पर पहुंची पुलिस को घटना स्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस जांच की दिशा तय करेगी।

झांकी पर चल रहा था हवन

मिसरोद थाना पुलिस ने बताया रानी लोधी पिता बाबूलाल उम्र 12 साल निवासी समरधा की रहने वाली थी। जांच अधिकरी एसआई शिवबाबू त्रिपाठी ने बताया रानी कक्षा चौथी की छात्रा थी। उसकी एक बड़ी बहन जिसकी शादी हो चुकी है, वह घर में माता—पिता और बड़े भाई के साथ रहती थी। सोमवार रात आठ बजे मोहल्ले में दुर्गा जी बैठी थी। रात आठ बजे झांकी पर हवन हो रहा था। रानी उसकी मां और पिता के साथ हवन में शामिल थे। हवन खत्म होने के बाद रानी परिजनों के साथ घर चली गई थी। घर जाते ही उसे उल्टी हुई। कुछ देर बैठने के बाद उसे दस्त होने शुरू हो गए थे।

दर दर भटके परिजन

जांच अधिकारी ने बताया रानी की हालत देखकर परिजन रात में ही पास की मेडिकल से दवाई लेकर आए थे। दवाई खाने के बाद भी उसे कोई आराम नहीं मिला। रात भर रानी को दस्त और उल्टियां होती रही। सुबह होते ही परिजन उसे बाइक पर बैठाकर मंडीदीप ले गए। जहां डॉक्टर ने देखकर बोला हम नहीं देख पाएंगे। उसको मिसरोद प्राथमिक स्वास्थय केंद्र ले जाने की सलाह दी गई। जब परिजन वहां पहुंचे तो अस्पताल में डॉक्टर मौजूद नहीं था। नर्स ने बोला आप जेपी अस्पताल ले जाओ। परिजन जेपी अस्पताल लेकर पहुंचे तो डॉक्टरों ने उसे देखने के बाद सुबह 11 बजे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Reward News: एसपी ने फटकारा तो दबी आधा दर्जन फाइले खुली

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।
Don`t copy text!