Bhojpal Mahotsav Mela: कोरोना की स्ट्रैन के बीच लापरवाही वाला मेला

Share

Bhojpal Mahotsav Mela: भेल प्रशासन के आदेश से वह विवादों में फंसा तो सरकार पर थोप दी जिम्मेदारी

Bhojpal Mahotsav Mela
रविवार 28 फरवरी को आयोजित कव्वाली में मौजूद भीड़ जो बताती है कि मेले में किस तरह से सामाजिक दूरी के नियमों का पालन कराया जा रहा है

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना की संख्या फिर बढ़ने लगी है। इस बीच सरकार के मेले चलाने के आदेश को लेकर वह कठघरे में है। भोजपाल महोत्सव मेला (Bhojpal Mahotsav Mela) जिसमें भाजपा के नेता जुड़े हैं उसको अनुमति दी गई है। अनुमति भेल के मैदान में चलाने की मिली है। भेल सारी लापरवाही को लेकर सरकार पर ठीकरा फोड़ रहा है। इधर, मेले के अध्यक्ष सुनील यादव (Sunil Yadav) सुर्खियों में है तो वे मीडिया से भाग रहे हैं।

क्या है मेले की हकीकत

भोजपाल महोत्सव मेले को उस वक्त अनुमति मिली जब प्रदेश में नगरीय निकाय जैसे चुनाव टाले जा रहे थे। यह मेला भेल के दशहरा मैदान में कुछ साल पहले ही शुरु हुआ था। इसको शुरु करने का क्रेडिट पूर्व महापौर आलोक शर्मा (Bhopal EX Mayor Alok Sharma) को जाता है। वे भाजपा में गोविंदपुरा सीट से अपनी किस्मत आजमाना चाहते थे।हालांकि इस बात का खंडन भी उन्होंने किया था। लेकिन, तब से शुरु हुआ यह मेला एक बार फिर संगठन के लिए मुश्किलें खड़ी कर रहा है। इस मेले के संयोजक विकास वीरानी (Vikas Virani) है जो कि भाजपा नेता है। यहां 400 से अधिक छोटी—बड़ी दुकानें लगी है। जिसमें बिना सामाजिक दूरी के इसे चलाया जा रहा है।

यह भी पढ़ेें: वह फर्जी आईपीएस अफसर जिसने खाकी के नाम पर कई लोगों को धोखा दिया उसको वास्तविक खाकी पहनने वाले पकड़ने की रुचि नहीं ले रहे, जानिए क्यों

यह भी पढ़ें:   Bhopal Rape News: मासूम से बलात्कार के आरोपियों ने धमकाया

भेल ने कहा क्राइसिस मैनेजमेंट जाने

Bhojpal Mahotsav Mela
छोटे—छोटे मासूम बच्चों को लेकर अभिभावक कोरोना की नई स्ट्रैन के बीच इस तरह से मेले में आ रहे हैं। कोई अनहोनी होने पर सरकार जिम्मेदारी लेगी।

इस संबंध में मेला अध्यक्ष सुनील यादव से पक्ष मांगा गया। वह मुलाकात के लिए राजी नहीं हुए। कभी मेला कार्यालय तो कभी गुलमोहर में आने का बोलकर यहां—वहां घुमाते रहे। इधर, भेल जनसंपर्क अधिकारी राघवेंद्र शुक्ला (BHEL PRO Raghvendra Shukla) ने बताया कि मेला लगाने का फैसला हमारा नहीं है। भेल ने मैदान उपलब्ध कराया है जिसका वह किराया वसूल रहा है। वहीं जब उनसे यह सवाल पूछा गया कि एक तरफ आप मेले (Bhojpal Mahotsav Mela) को अनुमति दे रहे हैं दूसरी तरफ आप बच्चों के चिल्ड्रन पार्क पर एक साल से ताला जड़े हैं। इसमें उन्हें पक्ष रखते—रखते काफी पसीना आ गया।

हमारे फेसबुक पेज The Crime Info पर जाकर देखिए पूरे वीडियो में देखिए भोजपाल महोत्सव मेला लगाने से भेल को फायदा या सरकार को नुकसान

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 और 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!