Bhopal Crime: टोटके वाला बताकर किया ऐसा बदनाम

Share

मंत्रालय से रिटायर्ड सुपरवाइजर की मौत के मामले में बेटी ने किया सनसनीखेज खुलासा, आरोप लगाने वाला दुकान बंद करके हुआ गायब

रमेशचंद्र कलोंदिया

भोपाल। जादू टोने के आरोपों से आहत मंत्रालय के कर्मचारी ने सुसाइड (Bhopal Employee Suicide) किया था। यह आरोप कर्मचारी की बेटी ने लगाए हैं। यह मामला मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh Crime) की राजधानी भोपाल के कोलार थाना क्षेत्र का है। बेटी का दावा है कि पिता पर जादू—टोने (Bhopal Witch Craft) करने का आरोप एक दुकान संचालक ने लगाया था। वह व्यक्ति उनके घर के सामने ही दुकान चलाता है। मौत की वजह दुकान के सामने फेंके गए नींबू से बनी। रास्ते में पड़े नींबू को मंत्रालय के कर्मचारी ने फेंका था जो सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया था। इसी वीडियो फुटेज को वायरल करके दुकान संचालक उसको बदनाम कर रहा था। इस संबंध में कोलार थाना पुलिस (Kolar Police Station) मामले की जांच कर रही है।

www.theccrimeinfo.com से बातचीत करते हुए रमेशचंद्र कलोंदिया (Ramesh Chandra Kalondiya) की बेटी बीना (Beena Kalondiya) ने बताया कि उसके पापा मंत्रालय से रिटायर्ड सुपरवाइजर थे। वह उसकी पत्नी विजय कलोंदिया (Vijay Kalondiya) और उसके तीन बच्चों के साथ पिछले 12—13 साल से कोलार रोड स्थित वरूण नगर (Varun Nagar) में रहते थे। वह रोज सुबह मॉर्निंग वॉक पर उनके डोगी के साथ घुमने जाते थे। घटना वाले दिन भी पापा घर से सुबह 5 बजे उठकर निकले थे। अचानक उनको घर के सामने एक नींबू पड़ा हुआ दिखाई दिया था। उन्होंने वह नींबू उठाकर दुकान के साईड में फेंक दिया था। जिससे दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज में वह कैद हो गया था। दिन मे करीब 10:30 बजे घर के सामने बनी किराने की दुकान वाले गुप्ता ने दुकान खोली थी। बीना दुकान वाले को उसके सरनैम से पहचानती है। वह दुकान की सफाई करने के बाद दिन में वीडियो देख रहा था। उसके वीडियो देखते ही उसने शोर मचाना शुरू कर दिया।
उसका आरोप था कि रमेशचंद्र ने उसकी दुकान पर जादू—टोना किया है। उसके चिल्लाते ही लोगों की भीड़ जमा हो गई थी। लोगों और पापा के समझाने के बाद भी वह कोई बात मानने को तैयार नहीं था। उसने पापा के साथ गाली—गलौज करना शुरू कर दिया। वहां खड़े लोगों की भीड़ ने जैसे तैसे मामले को शांत कराया था। पापा इन बातों से परेशान हो गए थे। उन्होंने इस घटना को बदनामी मानते हुए जहरीला पदार्थ (Suspected Poison) खा लिया। तबीयत बिगड़ने पर उनको  अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिसके बाद करीब 8 बजे उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी। परिजनों ने मौत की खबर पुलिस को भी दी थी। पुलिस ने मृतक के परिजनों के बयान के बाद पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया था। पुलिस को बेटी बीना ने इन तथ्यों से अवगत करा दिया है। लेकिन, कोलार थाना पुलिस मामले में अब तक कोई निर्णय नहीं ले सकी है। मामले में संदेही दुकानदार उसी दिन से गायब है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation: ट्यूटर ने 7 साल की बच्ची से की छेड़छाड़

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!