Bhopal Cyber Fraud: दोस्त बनकर कांफ्रेंस में लिया फिर…

Share

Bhopal Cyber Fraud: चचेरे भाई का दोस्त समझकर करता रहा बातचीत, बातों ही बातों में ओटीपी भी बताया, दो मोबाइल नंबर में उलझी गुत्थी

Bhopal Cyber Fraud
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। किसान जिसके पास चचेरा भाई के दोस्त के नाम से फोन आया वह उसे लूट ले गया। इस बात से युवा किसान बेखबर था कि उसके साथ क्या होने वाला है। यह घटना भोपाल (Bhopal Cyber Fraud) देहात में स्थित ईटखेड़ी इलाके की है। पुलिस प्रकरण को सायबर फ्रॉड का मामला मान रही है। बहरहाल अभी पुलिस ने जालसाजी का मुकदमा दर्ज किया है। पीड़ित किसान के खाते से करीब एक लाख रूपए तीन किस्त में निकाले गए हैं।

कांफ्रेंस में कनेक्ट करने के लिए यह बनाया बहाना

ईटखेड़ी थाना पुलिस के अनुसार यह घटना 6 जनवरी की शाम को छह बजे हुई थी। जिसकी एफआईआर 18/23 धारा 420 जालसाजी 17 जनवरी की दोपहर लगभग सवा दो बजे दर्ज की गई। शिकायत संतोष कुमार अहिरवार पिता खुशीलाल अहिरवार उम्र 29 साल ने दर्ज कराई। वह ईटखेड़ी थाना क्ष्रेत्र के ग्राम करदई का रहने वाला है। संतोष कुमार अहिरवार (Santosh Kumar Ahirwar) खेती—किसानी का काम करता है। उसने पुलिस को बताया कि उसके पास फोन आया था। फोन करने वाले व्यक्ति ने कहा कि वह उसके चचेरे भाई रोहित अहिरवार का दोस्त आशु निगम (Ashu Nigam) बोल रहा है। उसको किसी व्यक्ति से पैसे लेने थे। खाते में लिमिट खत्म हो गई है। इसलिए संतोष कुमार अहिरवार से आन लाइन खाते की जानकारी मांगी। यह जानकारी देते ही उसने कहा कि वह जिससे पैसा लेना है उसको मोबाइल पर कांफ्रेंस में लेकर बातचीत करा रहा है। इसके बाद दूसरे नंबर से उसको कनेक्ट किया गया।

पॉप अप आने पर ओटीपी डालने बोला

Bhopal Cyber Fraud
सायबर क्राइम से संबंधित साभार लिया गया सांकेतिक चित्र

संतोष कुमार अहिरवार ने पुलिस को बताया कि उसके फोन पे पर एक 25 हजार रूपए का पॉप अप आया। जिसमें आशु निगम ने जिसको कांफ्रेंस में कनेक्ट कराया था उसने यूपीआई पिन डालने बोला। ऐसा करते ही उसके खाते से 25 हजार रूपए निकल गए। उसने इस बात की जानकारी (Bhopal Cyber Fraud) दी तो कांफ्रेंस में बात कर रहे व्यक्ति ने 50 हजार का पॉप अप यह बोलकर भेजा कि इसमें पूर्व में कटी रकम भी वापस आ जाएगी। लेकिन, इस बार भी खाते से रकम निकल गई। फिर संतोष कुमार अहिरवार को नहीं घबराने की बात करते हुए तीसरा पॉप अप भेजा गया। इसमें यूपीआई पिन डालते ही तीसरी किस्त में 21154 रूपए निकल गए।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: बिल्डर का दंपत्ति ने फावड़ा मारकर सिर फोड़ा

यह पता लगा रही है पुलिस

तीसरी बार फिर रकम निकलने पर आपत्ति जताते हुए आशु निगम से पीड़ित ने विरोध जताया। उसने फोन काटकर वीडियो कॉल करने बोला। ऐसा करने पर जालसाज ने उससे दूसरा खाता पूछा जिसमें वह फंक्शन करता हो। इसके बाद पीड़ित ने चचेरे भाई रोहित अहिरवार (Rohit Ahirwar) की मदद से आशु निगम के पास पहुंचा। उसने बताया कि कोई भी कॉल उसने नहीं किया है। इसके बाद यह प्रकरण पुलिस केे पास जांच में आया। प्राथमिक जांच के बाद प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। अगली कार्रवाई के लिए केस डायरी एएसआई राजेश दुबे (ASI Rajesh Dubey) को सौंपी गई है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Cyber Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

मारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!