Bhopal Cyber Fraud: ऑन लाइन रकम ट्रांसफर कराने के बाद कारोबारी की झूठी शिकायत 

Share

Bhopal Cyber Fraud: पे बिंगो कंपनी पर बिना जांच दुकानदार के खाते से रकम काटने की सायबर क्राइम में शिकायत, नए तरह का क्राइम ट्रैंड सामने आया, थानों के चक्कर काटने के बाद लिया गया आवेदन

Bhopal Cyber Fraud
अतिरिक्त आय के लिए निम्न नंबरों पर संपर्क करें।

भोपाल। यदि आप ऑन लाइन ट्रांजेक्शन के कारोबार से जुड़े हैं तो यह समाचार आप से सीधे जुड़ा है। दरअसल, दुकानों में पहुंचकर एक नए तरीके से फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। इस संबंध में काफी मशक्कत के बाद भोपाल सायबर क्राइम ने पीड़ित का आवेदन लिया है। घटना भोपाल (Bhopal Cyber Fraud) शहर के मंगलवारा (Mangalwara) थाना क्षेत्र की है। जिसमें कारोबारी का आरोप है कि उसकी दुकान में आकर एक व्यक्ति ने खाते में रकम ट्रांसफर कराई। इसके बाद उसने खाते से रकम निकालने की झूठी शिकायत कर दी। जिस कारण पे बिंगो नाम की फर्म ने उसके खाते से रकम काट ली।

यह बोलकर काट ली रकम

शिकायत इतवारा रोड निवासी दीपेश जैन (Dipesh Jain) पिता रमेश चंद जैन ने दर्ज कराई है। उसका अजंता ट्रैवल्स (Ajanta Travells) नाम से कारोबार है। दुकान में वह एमपी ऑन लाइन का भी कारोबार करता है। रेलवे टिकट के अलावा दीपेश जैन पे बिंगो (Pay Bingo) नाम की कंपनी की डीलरशिप भी उन्होंने ले रखी है। इस कंपनी के जरिए आधार कार्ड से पैसा ट्रांसफर कराया जाता है। दीपेश जैन ने बताया कि उनकी दुकान में 22 जून को एक ग्राहक आया था। जिसने पहले दस हजार रूपए खाते से निकलवाए। फिर उस रकम को दूसरे खाते में ट्रांसफर भी कराए। ऐसा करने के लिए उसने अपने तीन नंबरों का इस्तेमाल किया। रकम ट्रांसफर करने के बाद उस व्यक्ति ने शिकायत दर्ज कराई कि उसके खाते से पैसा निकाल लिया गया है। इस आधार पर पे बिंगो कंपनी ने 29 जून को दीपेश जैन के खाते से दस हजार रूपए काट लिए।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: नाई की दुकान पर गदर

कार्रवाई करने की बजाय नियम बताते रहे पुलिस अधिकारी

दीपेश जैन का कहना है कि रकम पे बिंगो कंपनी ने बिना जांच—पड़ताल काट ली है। कंपनी का कार्यालय न्यू मार्केट (New Market) में हैं। इसकी शिकायत लेकर वह सबसे पहले भदभदा चौराहे पर स्थित राज्य सायबर कार्यालय पहुंचा। यहां उससे कहा गया कि कार्यालय में दो लाख रूपए से अधिक के फर्जीवाड़े पर ही आवेदन लिया जाता है। मंगलवारा थाना पुलिस ने उसे सायबर क्राइम (Cyber Crime) में शिकायत दर्ज करने की सलाह दी। वह सायबर क्राइम में शिकायत करने पहुंचा तो उसका आवेदन लेने से इंकार कर दिया गया। फिर उसने अफसरों से शिकायत की तो भोपाल सायबर क्राइम ने जांच में उसका आवेदन 1 अगस्त को लिया। दीपेश जैन का कहना है कि पे बिंगो के जरिए रकम निकालने का काम फिंगर प्रिंट के जरिए होता है। इसी तरह रकम भेजने का भी काम किया जाता है। इसके बावजूद फर्जीवाड़े की जांच किए बिना कंपनी ने उसके खाते से रकम काट ली।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Cyber Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Theft Case: कवर्ड कैम्पस उमा विहार से लाखों रुपए का माल चोरी
Don`t copy text!