Bhopal News: मंदिर के पुजारी पर तलवार से हमला

Share

Bhopal News: पारिवारिक कलह के चलते दो साले और उसके दोस्तों ने घटना को दिया अंजाम

Bhopal News
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। मंदिर के पुजारी पर जानलेवा हमला कर दिया। हमले के कारण उसके हाथ—पैर में गंभीर फ्रैक्चर हुआ है। यह घटना भोपाल (Bhopal News) देहात क्षेत्र में स्थित बैरसिया इलाके की है। हमलावरों में शामिल दो आरोपी जख्मी पुजारी के साले हैं। हमले की वजह पारिवारिक कलह बताई जा रही है। पीड़ित ने पुलिस को बताया कि उसका पत्नी के साथ विवाद चल रहा है।

यह बोलकर किया गया पुजारी पर हमला

बैरसिया (Berasia) थाना पुलिस के अनुसार जख्मी भगवान सिंह गुर्जर (Bhagwan Singh Gurjar) पिता धूर सिंह गुर्जर उम्र 37 साल है। वह ग्राम अजबपुरा (Ajabpura) में रहता है। पुजारी पर हमला ग्राम रमपुरा में स्थित बालाचोन के बालाजी मंदिर में हुआ। पुलिस ने बयानों के आधार पर 574/23 धारा 294/324/325/506/34 (गाली—गलौज, धारदार हथियार से हमला, मारपीट में फ्रैक्चर होना, धमकाना और एक से अधिक आरोपी का प्रकरण) दर्ज किया है। जख्मी को बैरसिया में स्थित एलबीएस अस्पताल (LBS Hospital) में भर्ती कराया गया है। हमले की यह वारदात 5 अगस्त को हुई थी। उस वक्त भगवान सिंह गुर्जर मंदिर पर था। उसके हाथ और पैर में फ्रैक्चर हुआ है। इसके अलावा सिर में भी गंभीर चोट आई है। पुलिस ने इस मामले में आरोपी रामबाबू, विकास और उनके साथियों को बनाया है। रामबाबू और विकास जख्मी पुजारी के साले हैं। पीड़ित ने पुलिस को बताया कि उसकी पत्नी ने मारपीट और दहेज प्रताड़ना का केस लगाया है। इसी बात को लेकर आरोपी सालों ने उनकी बहन की जिंदगी बर्बाद करने का आरोप लगाकर हमला किया। मामले की जांच एएसआई हेमंत सिंह (ASI Hemant Singh) कर रहे हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: परिवार को कई दिनों से जताते थे अफसोस
Don`t copy text!