Bhopal News: दर—दर भटकता रहा यह परिवार, किसी भी डॉक्टर का दिल नहीं पसीजा

Share

Bhopal News: हमीदिया अस्पताल में डॉक्टरों को बताया तो पुलिस को दे दी मौत की सूचना

Bhopal Corona Curfew
भोपाल की सड़कों पर इस तरह के संदेश को लिखकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज (Bhopal News) निशातपुरा इलाके से मिल रही है। कोरोना संक्रमण के चलते शहर के निजी अस्पतालों में हालात बिगड़ गए हैं। ऐसा ही एक मामला उजागर हुआ है। एक परिवार के इकलौते कमाने वाले मुखिया की तबीयत बिगड़ी। परिजन उसको एम्बुलेंस लेकर दर—दर अस्पतालों में भटका। किसी ने भी उसको भर्ती नहीं किया। नतीजतन, परेशान परिजन हमीदिया अस्पताल ले गए। वहां चिकित्सकों को सारा घटनाक्रम बताया गया। जिसके बाद डॉक्टर ने उसको मृत घोषित करके पुलिस को सूचना दे दी।

एम्बुलेंस ड्रायवर ने की थी मदद

निशातपुरा थाना पुलिस पुलिस के अनुसार 29 अप्रैल की सुबह साढ़े ग्यारह बजे एक व्यक्ति की मौत होने की खबर हमीदिया अस्पताल से मिली थी। जांच करने एसआई आरपी अग्निहोत्री (SI RP Agnihotri) गए थे। उन्होंने बताया कि शव की पहचान मनीष नामदेव पिता संतोष नामदेव उम्र 34 साल के रुप में हुई है। वह न्यू जेल रोड राज नगर का रहने वाला था। मनीष नामदेव (Manish Namdeo) एमपी नगर में अकाउटेंट का काम करता था। परिवार में वह इकलौता वारिस था। पिता संतोष नामदेव (Santosh Namdeo) लकवे के रोग से पीड़ित थे। मृतक ने हाल ही में नया मकान बनाकर उसमें शिफ्ट हुआ था।

यह भी पढ़ें: यदि आपने दोस्त बनाने के लिए इस डेटिंग एप्प को डाउनलोड किया है तो उन चेहरों के बारे में जान लीजिए जो आपके लिए मुश्किलें खड़ी करेंगी

हार्ट अटैक से मौत

Bhopal News
राजधानी भोपाल में कोरोना से निपटने तैनात पुलिस अधिकारी संदेश के साथ फाइल फोटो

पत्नी की कुछ दिनों में डिलीवरी भी होने वाली है। मनीष नामदेव को सीने में दर्द की शिकायत हुई थी। पत्नी ने पड़ोसी जो प्रायवेट एम्बुलेंस चलाता है उसकी मदद से कई अस्पताल ले गए। निजी अस्पताल ने उसको भर्ती करने से मना किया। इसलिए उसको हमीदिया अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसको मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने आशंका जताई है कि दिल का दौरा पड़ने से उसकी मौत हुई है।

यह भी पढ़ें:   MP News : खड़े ट्रक में जा घुसी जीप, 3 की मौत, 8 घायल
Don`t copy text!