Bhopal Honor Killing: झूठे सम्मान के लिए बेटी की अस्मत लूटकर की हत्या

Share

Bhopal Honor Killing: पिता—पुत्र गिरफ्तार, मकान मालिक की शिकायत से मिला पुलिस को सुराग

Bhopal Honor Killing
सांकेतिक ग्राफिक डिजाईन टीसीआई

भोपाल। सम्मान के लिए एक कलयुगी पिता ने बेटी की निर्मम हत्या (Bhopal Honor Killing) कर दी। इससे पहले उसकी जंगल में ले जाकर अस्मत भी लूटी गई। यह सनसनीखेज खुलासा भोपाल के रातीबड़ थाना पुलिस ने किया है। पुलिस एक दिन पहले मां—बेटे की मिली लाश के मामले में जांच कर रही थी। पिता उसकी बेटी के दूसरे समाज के लड़के के साथ प्रेम विवाह करने की बात से नाराज था। बेटी की हत्या करने के बाद उसकी जानकारी बेटे को भी थी। जिसने इस राज को छुपाकर रखा।

दो साल पहले की थी शादी

रातीबड़ थाना पुलिस के अनुसार 14 नवंबर को वन रक्षक ने समसगढ़ जंगल में पिलोटा नाला के पास दो लाश ​होने की सूचना दी थी। जिसमें मर्ग 53—54/21 दर्ज कर जांच शुरु की गई। शव युवती और उसके पांच महीने के बेटे का था। शव की पहचान के लिए पुलिस ने अपने स्तर पर प्रयास किए। जिसके बाद उसकी पहचान 15 नवंबर को हो गई। जांच में पता चला कि उसने 2019 में विश्वकर्मा समाज में शादी की थी। जबकि वह बड़े समाज से ताल्लुकात रखती थी। उस वक्त बिलकिसगंज में परिजनों ने उसकी गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी। पति फिलहाल रायपुर में नौकरी करता है। जांच में पता चला कि उसकी एक बहन यहां रातीबड़ इलाके में रहती है। वह उसके घर आई थी। यह सुराग मिलते ही पुलिस को केस सुलझाने में मदद मिली।

ऐसे लूटी थी अस्मत

Bhopal Honor Killing
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

थाना प्रभारी सुधेश तिवारी (TI Sudhesh Tiwari) ने बताया कि मृतका ने पिछले दिनों भाई को फोन लगाया था। वह उससे मुलाकात करना चाहती थी। वह अपने बेटे के साथ आई। लेकिन, भाई अपने घर ले जाने की बजाय उसको बड़ी बहन के रातीबड़ स्थित घर छोड़ गया। इसी बीच मृतका के बेटे का बीमारी की वजह से निधन हो गया। यह जानकारी उसकी बहन ने पिता और उसके भाई को दी। आरोपी पिता—भाई उसको अंतिम संस्कार के लिए समसगढ़ के जंगल ले गए। यहां मुख्य आरोपी पिता ने बेटे को सड़क पर रहने को बोला। फिर वह अपनी बेटी को लेकर जंगल में ले गया। यहां उसके साथ बलात्कार किया। फिर उसकी हत्या करके भाग आया। उसने बच्चे को भी उसकी लाश के नजदीक फेंक दिया। रातीबड़ थाना पुलिस ने 15—16 नवंबर की दरमियानी रात लगभग चार बजे 624/21 धारा 302/376/120—बी/201 (हत्या, बलात्कार, साजिश और सबूत मिटाने) का केस दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें:   MP Police Disputed Order: मध्यप्रदेश में जाति पूछकर डंडे बरसाने डीजीपी ने दिए आदेश

ऐसे उजागर हुआ राज

पुलिस को अब इस मामले में महत्वपूर्ण सुराग की तलाश थी। इसी बीच पता चला कि जहां मृतका की बहन रहती है उसका मकान मालिक थाने आया था। दरअसल, मृतका और उसकी बहन की बातचीत एक बार मकान मालिक के मोबाइल नंबर पर हुई थी। मृतका का पति उसकी पत्नी के नहीं मिलने पर उसको जान से मारने की धमकी दे रहा था। यह रिपोर्ट करने वह 09 नवंबर को थाने भी पहुंचा था। मतलब साफ है कि मृतका की हत्या 09 नवंबर को जंगल में ले जाकर की गई थी। इस बारे में जब बहन से पूछताई हुई तो उसने पुलिस को सारा राज उगल दिया। उसने बताया कि उसको पिता—भाई ने उसकी ही तरह मारने की धमकी दी थी। पुलिस ने दोनों आरोपी पिता—पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। इस खुलासे में टीआई सुधेश तिवारी, एसआई स्वरुप सिंह, एएसआई मोहन सिंह, देवेन्द्र सिंह, हवलदार राकेश गुर्जर, अतुल जंगले, मुरारी शर्मा, रमेश वर्मा, भूपेन्द्र सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

यह भी पढ़ें: भोपाल के इस बिल्डर पर सिस्टम का ‘रियायती सैल्यूट’, परेशान हो रहे 100 से अधिक परिवार

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Honor Killing
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Breaking News: आपदा को अवसर बना रहे सायबर अपराधी
Don`t copy text!