Chhatarpur Kidnapping Case: ड्रायवर ने दोस्तों की मदद से रची अपहरण की साजिश

Share

Chhatarpur Kidnapping Case: मां की बीमारी के लिए चाहिए थी रकम, पांच आरोपी गिरफ्तार

Chhatarpur Kidnapping Case
यह है वह बच्चा जो अपहर्ताओं के चंगुल में फंस गया था

छतरपुर। छतरपुर के सिविल लाइन इलाके से अगवा (Chhatarpur Kidnapping Case) छह साल के बच्चे के मामले में पुलिस ने खुलासा कर दिया है। वारदात की योजना घर के ड्रायवर ने बनाई थी। उसकी मां बीमार थी इसलिए उसको पैसों की आवश्यकता थी। आरोपी ने फोन करके बच्चे के पिता से एक करोड़ रुपए की फिरौती (Chhatarpur Ramsom Case) मांगी थी। बच्चा गांव के ही सरंपच के बेटे की मदद से सकुशल बरामद कर लिया गया था। उसने एक संदे​ही को दबोचकर पुलिस को भी सौंपा था। हालांकि इससे पहले थाना पुलिस पूरी घटना पर सस्पेंस बनाती रही। देर शाम एजेंसी को आईजी सागर अनिल शर्मा (IG Anil Sharma) ने इस पूरे मामले से पर्दा उठाया।

बस हाईजेक ने बचाई जान

सिविल लाइन थाना पुलिस ने इस मामले में नीरज राय, महेन्द्र सेन (Mahendra Sen), हल्के कुशवाहा (Halke Kushwaha), किशन अहिरवार (Kishan Ahirwar) और संजू पटेल को गिरफ्तार किया है। इस अपहरण की कहानी का मुख्य साजिशकर्ता नीरज राय है। वह भास्कर तिवारी (Bhaskar Tiwari) के यहां ड्रायवर का काम करता था। उसने पूछताछ में कबूला कि उसके मां के इलाज के लिए पैसों की आवश्यकता थी। इसलिए मालिक के 6 साल के बेटे अभिग्न तिवारी को अगवा (Abhigna Tiwari Kidnapping Case) कर लिया था। पुलिस ने महेन्द्र सेन और हल्के कुशवाहा (Halke Kushwaha) से भी पूछताछ की। आरोपियों ने बताया कि बस हाईजेक होने की खबर के बाद चौकसी बढ़ गई थी। इसलिए बच्चे को वह जिले से बाहर नहीं ले जा सके थे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide Case: अधेड़ का शव फंदे पर लटका मिला

यह भी पढ़ें: यूपी के बिगड़ेल कारोबारी भोपाल के इस होटल में आकर तलाशते थे कम उम्र की लड़कियां

रैकी से लेकर डमी

पुलिस ने बताया कि उसने दोस्तों की मदद से संजू पटेल (Sanju Patel), किशन अहिरवार, हल्के कुशवाहा के रोल का पता किया गया। रैकी से लेकर पूरे घटनाक्रम का नाट्य रुपांतरण कराया गया। अभिग्न तिवारी (Abhigna Tiwari Case) गुरुवार सुबह वहां से 9 किलोमीटर दूर एक पहाड़ी पर बने घर में सोते मिला। जानकारी के अनुसार दोनों संदिग्धों को सरपंच का लड़का माधव (Sarpanch Son Madhav) ने पकड़ा था। इसके बाद पूरे अपहरण कांड (Chhatarpur Abhigna Tiwari Kidnapping Case) का खुलासा हो गया। इस मामले में पुलिस की कोई सार्थक पहल नजर नहीं आई।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!