MP Political Joke: जब—जब कोसेंगे नौ सेकंड का दंश मिलेगा

Share

MP Political Joke: कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल, ब्राह्मण समाज को लेकर अमर्यादित टिप्पणी, फिर भाजपा नेता ने दिखाया आईना, पार्षद के बाद अब विधायक बनने की फील्डिंग शुरू

MP Political Joke
सांकेतिक चित्र टीसीआई

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजनीति में काफी कुछ भीतर ही भीतर चल रहा होता है। यह कानाफूसी कभी—कभी बड़े समाचार की तरफ इशारा करती है। कुछ ऐसे ही बातों का हमारा साप्ताहिक नियमित कॉलम एमपी पॉलिटिकल जोक (MP Political Joke) है। जिसमें भाजपा—कांग्रेस समेत अन्य दलों के भीतर चल रही खींचतान शामिल है। इस बार प्रदेश में आम आदमी पार्टी भी घमासान करना चाहती है। हालांकि उनके प्रदेश अध्यक्ष ज्यादा सक्रिय फिलहाल नहीं दिख रहे हैं। लेकिन, जो खबरें सामने आ रही है उससे वे हमारे इस बार कॉलम में जरूर आ गए हैं।

न रहेगा बांस और न बजेगी बांसुरी

भाजपा—कांग्रेस केे बीच जमकर घमासान होती ही हैं। इसमें कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा सुबह—सुबह अखबारों की कतरन, वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड करके वार करते हैं। उनके हमलों से भाजपा प्रवक्ताओं में भी जवाब देने का भारी दबाव रहता है। इसलिए भाजपा प्रवक्ताओं ने रोज—रोज की सुई चुभाने की बजाय सीधे गला—काट हमला करने की तकनीक अपना ली है। केके मिश्रा कुछ भी कहते है तो कोई न कोई भाजपा नेता उनके दिनभर में उनका नौ सेकंड वाला वीडियो वायरल कर देते हैं। इसमें वे ब्राह्मण समाज को खुलकर अभद्र गालियां देते हुए दिख भी रहे हैं। ऐसा न करने की सलाह देने पर भी वे चुप नहीं रहते हैं और समाज को लेकर अभद्र शैली में बातचीत करते हैं। इसके पहले भी मिश्रा ऐसा ही ब्राह्मण समाज को लेकर विवादित बयान दे चुके हैं।

आप आए बहार आई…

MP Political Joke
सांकेतिक चित्र टीसीआई

मध्यप्रदेश में लगभग दस महीने बाद विधानसभा चुनाव हैं। यह बातें ब्यूरोक्रेसी के अलावा सभी दलों के नेता जानते भी है। कुछ नेता अपने पुराने काले कारनामों को व्हाईट करने में जुट गए हैं। सबसे ज्यादा खतरा भाजपा को समझ आ रहा है। इसलिए संगठन अपने स्तर पर भीतर ही भीतर सर्वे करा रहा है। जिसमें यह भी पता लगा रहा है कि ऐनवक्त में कौन मेंढ़क बन सकता है। वहीं खबर है कि ऐसे मेंढ़क कांग्रेस की बजाय आप पर डोरा डाल रहे हैं। इस बात की निगहबानी उनके प्रदेश अध्यक्ष भी कर रहे हैं। मतलब साफ है कि इस वक्त जो भी दिल्ली का दौरा कर रहा है वह अपने कार्यालय के साथ—साथ केजरीवाल कनेक्शन वाले नेताओं के दरबार पर भी माथा टेक रहा है। बहरहाल, गुजरात सदमे से उबर नहीं पा रहे केजरीवाल एमपी में दोनों ही दलों से किनारा करके अपनी पगडंडी बनाना चाह रहे हैं। क्योंकि गुजरात के चुनाव परिणामों में दोनों दलों के असंतुष्टों को शामिल करने पर उन्हें भारी कीमत चुकानी पड़ गई है।

यह भी पढ़ें:   MP Political News: सपा के पूर्व विधायक किशोर समरीते गिरफ्तार

हुजूर की खिदमत यूं ही नहीं

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को हर भाजपा विधायक अपने इलाके में बुलाकर कार्यक्रम कराने की योजना बनाता है। लेकिन, यह सौभाग्य बहुत कम विधायकों को मिलता है। इस वक्त राजधानी में भाजपा के पास चार विधायक हैं। तीन सीट जिसमें से दो भाजपा के पास थी वह पिछले चुनाव में चली गई। वहीं दो सीट में काफी नजदीकी मुकाबला था। अब भाजपा के दो विधायकों के क्षेत्र को लेकर भीतर ही भीतर चर्चा चल रही है। यह चर्चा विधायकों की कार्यशैली की बजाय मुख्यमंत्री के एक के बाद एक आयोजनों को लेकर चल रही है। वह चाहे खिलौने बेचने का मामला हो, 222 करोड़ रूपए की सड़क निर्माण का या फिर माफिया से जमीन मुक्त कराने का इवेंट हो। उसमें स्थानीय विधायकों के चेहरे सरकारी विज्ञापनों से गायब थे। इसलिए चर्चा चल रही है कि हुजूर की खिदमत यूं ही नहीं…।

पार्षद लगा रहे विधायक बनने के लिए जोड़—तोड़

MP Political Joke
सांकेतिक चित्र टीसीआई

कांग्रेस के पार्षद इन दिनों एक बार फिर सक्रिय हैं। वह भारत जोड़ो यात्रा हो या फिर मुद्दों पर दिखना। सभी जगह वे मौजूद होते हैं और भारी संख्या के साथ। दरअसल, इसके पीछे दस महीने बाद होने वाले चुनाव का समीकरण (MP Political Joke) है। खास बात यह है कि पार्षद जहां रहते हैं वहां कांग्रेस का विधायक है। उनकी नजर एक ऐसे विधानसभा क्षेत्र में जहां भाजपा का वर्चस्व है। वह तिलिस्म तोड़ने के लिए अपने पुराने रूठे मित्रों को मनाने में जुटे हैं। अपना इरादा वे शेर के पुतले पर बैठकर जता भी चुके हैं। इसके अलावा वे भीतर ही भीतर कार्यकर्ताओं को सक्रियता दिखाने के लिए तैयार भी कर रहे हैं। इन पार्षद महोदय की खासियत यह है कि वे पचौरी के साथ—साथ दिग्विजय खेमे के भी काफी नजदीकी हैं। दो बार पार्षद रह चुके यह कांग्रेस नेता क्या चमत्कार दिखा पाएंगे यह भविष्य में जरूर पता चल जाएगा।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Rape Case: पति से रुठना पत्नी को महंगा पड़ा

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Political Joke
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!