Bhopal Crime News: डिलीवरी कराते वक्त नर्सें आपस में भिड़ी, वीडियो बनाने का प्रसूता ने लगाया आरोप

Share

Bhopal Crime News: पीड़ित प्रसूता का दावा उसके बच्चे होने का नर्स ने बनाया वीडियो, पुलिस ने किया इंकार

Bhopal Crime News
इसी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की दो नर्स पर आरोप लगे हैं

भोपाल। प्रसूता को डिलीवरी कराते वक्त दो नर्स आपस में भिड़ (Bhopal Nurse Make Video Case) गई। वह दोनों लेबर टेबल में एक—दूसरे को लापरवाह बनाते हुए जुबानी जंग करने लगी। इस दौरान एक नर्स ने प्रसूता का बच्चे को जन्म देते हुए वीडियो बना लिया। हालांकि यह मामला पुलिस के पास भी पहुंचा था। लेकिन, जांच के बाद पुलिस को ऐसे कोई सबूत नहीं मिले। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। अब इस मामले की शिकायत नए सिरे से कलेक्टर को की गई है।

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के मंत्री की बेटी ने इस कारण लगाई थी फांसी

एक सप्ताह पुरानी घटना

यह घटना भोपाल के देहात क्षेत्र स्थि​त खजूरी इलाके की है। प्रसूता के साथ यह घटना 1 अगस्त को हुई थी। महिला यहां पहले बच्चे को जन्म देने के लिए भर्ती हुई थी। अस्पताल में उसको दुर्गेश पठारिया (Durgesh Pathariya) ने भर्ती किया था। वह जब बच्चे को जन्म देने वाली थी तब उसको लैबर टेबल पर लेटा दिया। तभी दूसरी सिस्टर शकून चौधरी (Shakun Choudhry) आ गई। पीड़िता ने मीडिया को बयान दिया है कि शकून चौधरी वहां विरोध करने लगी। पीड़िता ने बताया उसने वीडियो बनाना शुरु कर दिया। वह बच्चे को जन्म देने का वीडियो बना रही थी। मैंने और दुर्गेश ने उसको रोका भी था। लेकिन, दोनों फिर आपस में लड़ने लगी।

हमारे पास कोई सबूत नहीं

यह विवाद शनिवार को सोशल मीडिया में वायरल हो गया। जिसमें खजूरी सड़क थाना पुलिस पर भी आरोप लगे। पीड़िता का कहना था कि पुलिस ने कुछ नहीं किया। जब इस संबंध में थाना प्रभारी एलडी मिश्रा (TI LD Mishra) से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि पीड़िता जो बयान दे रही है वह सही नहीं है। पुलिस ने दोनों नर्स के बयान दर्ज किए हैं। दोनों नर्स ने वीडियो बनाने की बात से इनकार कर दिया है। पूरे विवाद की जड़ दूसरी है जो स्वास्थ्य विभाग का आंतरिक मामला है। इस सिलसिले में वहां के चिकित्सक ज्यादा बेहतर बता सकेंगे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: भैंस बांधने के विवाद पर पथराव

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!