Bhopal Fake Cop: पुलिस वर्दी पहनकर शहर में घुम रहा था जालसाज

Share

Bhopal Fake Cop: लॉक डाउन के दौरान बाइक जब्त करने की धौंस देकर ले भागा जालसाज

Bhopal Fake Cop
सांकेतिक चित्र

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना (MP Covid News) का कहर बरकरार है। इस कहर की चपेट में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan), मंत्री अरविंद भदौरिया, राम खेलावन पटेल, तुलसी सिलावट के बाद विश्वास सारंग भी कोविड—19 से संक्रमित हो गए हैं। प्रदेश में अब तक कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 39 हजार से अधिक हो गई है। वहीं मौत 996 लोगों की हो चुकी है। इन चुनौतियों से निपटने के लिए कई शहरों में फिर लॉक डाउन (Bhopal Lock Down News) लगाया गया। यह लॉक डाउन 10 दिनों का भोपाल में भी लगाया गया। इस दौरान शहर में एक जालसाज पुलिस की वर्दी (Bhopal Fake Cop) पहनकर घुम रहा था। वह लोगों को झांसा (Bhopal Lock Down Crime Report) दे रहा था। इस झांसे में एक बेकरी संचालक आ गया। वह उसकी बाइक यह बोलकर ले गया कि पुलिस ने उसे जब्त कर लिया है।

मामले को दबाती रही पुलिस

घटना भोपाल के टीटी नगर थाना क्षेत्र में 25 जुलाई की रात साढ़े दस बजे हुई थी। उस वक्त रात 8 बजे से कर्फ्यू भी लगता था। जबकि भोपाल में 24 जुलाई से 10 दिनों के लिए लॉक डाउन भी लगा था। इस मामले (Bhopal Fake Cop) को पुलिस ने लंबे अरसे तक दबाए रखा था। पीड़ित कमला नगर थाना क्षेत्र के आराधना नगर में रहने वाला प्रवेंद्र सिंह (Pravendra Singh) उम्र 35 साल है। वह घटना वाले दिन पंचशील नगर में रहने वाले पिता से मुलाकात करने गया था।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: सीसीटीवी इंस्टाल करके आ रहे युवकों से रंगदारी टैक्स

दो थे लुटेरे

प्रवेंद्र ने बताया कि वह जब सेंट मेरी स्कूल के सामने पहुंचे तो एक बाइक पर सवार दो व्यक्तियों ने उन्हें रोक लिया। रात को घुमने का कारण पूछा और कानूनी कार्रवाई की धमकी दी। जिस व्यक्ति ने रोका था वह पुलिस वर्दी में था। दूसरे व्यक्ति ने उससे बाइक ली और फिर दोनों फरार (Bhopal Cheating Case) हो गए। प्रवेंद्र सिंह बेकरी संचालक है जिन्होंने थाने में रिपोर्ट भी दर्ज कराई। पुलिस ने तमाम सीसीटीवी फुटेज खंगाले लेकिन कोई सुराग बदमाश का नहीं मिला।

यह भी पढ़ें: पुलिस विभाग के एक कर्मचारी ने मध्य प्रदेश के मंत्रियों के नाम पर पर्चे बांटकर ऐसे दिया धोखाधड़ी को अंजाम

दस दिन में दूसरा मामला

लॉक डाउन में हुई दो वारदातों पर पर्दा डालने का यह दूसरा मामला है। इससे पहले हबीबगंज थाना क्षेत्र में नूतन कॉलेज के पास लूट (Bhopal Loot Case) की वारदात हुई थी। इस वारदात में एक्टिवा सवार एक छात्र का मोबाइल लेकर भाग गया था। जिसकी पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने की बजाय मोबाइल गुम होने की रिपोर्ट दर्ज की थी।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!