Bhopal Dowry Case: लॉक डाउन को पति ने बनाया अवसर, पत्नी पहुंची थाने

Share

Bhopal Dowry Case: मायके में रहने वाली पत्नी को पता चला यह राज तो दर्ज कराया मामला

Bhopal Shahpura Thane Ka Mamla
सांकेतिक चित्र

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) आपदा के अवसर का मंत्र प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अच्छे काम के लिए दिया था। लेकिन, इस मंत्र के फॉर्मूले का गलत इस्तेमाल किया जाने लगा है। यह बोलकर एक महिला थाने पहुंची थी। घटना (Bhopal Dowry Case) मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की है। महिला की एक साल पहले शादी हुई थी। इधर, एक अन्य महिला से हुई हिंसा का मामला थाने पहुंचा है। पुलिस ने दोनों मामलों में प्रकरण दर्ज (Bhopal Crime Against Woman Case) कर लिया है। इसमें मुख्य आरोपी पति समेत बाकी अन्य रिश्तेदार हैं।

एक साल पहले हुई थी शादी

शाहपुरा थाना पुलिस ने बताया कि 29 वर्षीय महिला ने ससुराल वालों के खिलाफ प्रताड़ना का मुकदमा दर्ज कराया हैं। महिला ने बताया कि उसका मायका राजगढ़ का हैं। परिवार वालों ने उसकी शादी विकास कुंज शाहपुरा निवासी मनीष विश्वकर्मा (Manish Vishwkarma) के साथ अप्रैल, 2019 में हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद ही ससुराल में उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था। सास अनीता, ननद खुशबू और देवर कौशल कम दहेज लाने पर उसे आए दिन प्रताड़ित करते थे। बहू के विरोध करने पर उसके साथ मारपीट होती थी। सास अनीता का बोलना था कि वह पढ़ी लिखी है। वह नौकरी करके घर खर्च के पैसे लाकर दे। ऐसा नहीं करने पर उसे छोड़कर बेटे की दूसरी शादी कराने की धमकी देते थे।

मायके वालों को दी धमकी

महिला का कहना है कि वह ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आ चुकी थी। जिसके लिए उसने मायके वालों से मदद मांगी थी। लेकिन, ससुराल वालों का कहना था कि वह उनकी दहेज की मांग को पूरा करे। ऐसा नहीं करने पर वह उसे जान से मार देगें। यह सुनकर परिजनों ने थाने में शिकायत की चेतावनी दी। लेकिन, पति मनीष उसके परिजनों को भी जान से मारवा देने की धमकियां देता रहा। महिला की सास ने 7 जनवरी, 2020 को उसके साथ मारपीट करके घर से बाहर निकाल दिया था।

यह भी पढ़ें:   मंदिर में पूजा नहीं कमाई के लिए जाते थे भक्त बनकर

पत्नी को लगी पति के अवैध संबंधों की भनक

महिला ने बताया कि ससुराल वालों ने उसके साथ मारपीट करके उसे घर से निकाल दिया था। जिसके बाद वह मायके में रह रही हैं। वहीं मार्च 2020 के अंतिम सप्ताह में लॉक डाउन लग गया था। महिला को पता चला कि आरोपी मनीष राजीव गांधी नर्सिग की एक युवती के साथ रिलेश्नशिप में रहने लगा है। मनीष ने युवती को उसके घर में पनाह दे दी थी। इसी बात की भनक महिला को लग गई थी। महिला ने जब ससुराल वालों से इस संबंध में बात की तो वह उसे उल्टा धमकाने लगे।

यह लगी है धारा

महिला ने बताया कि पति और ससुराल वालों की हरकतों से तंग आकर वह सोमवार 6 जुलाई थाने पहुंच गई थी। जिसके बाद पुलिस ने महिला की शिकायत के बाद देर रात करीब 10 बजे आरोपी पति मनीष विश्वकर्मा, सास अनीता, देवर कौशल और ननद खुशबू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपियों के खिलाफ धारा 498ए/323/506/34 प्रताड़ना, मारपीट, जान से मारने की धमकी और एक से अधिक आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

बेटी होने पर घर से निकाला

इधर, गौतम नगर थाना पुलिस ने शारदा नगर नारियलखेड़ा निवासी 21 साल की युवती ने दहेज प्रताड़ना का मुकदमा दर्ज कराया हैं। उसकी शादी 2018 में मोहम्मद शाहिद के साथ हुई थी। दोनों की एक साल की बेटी भी हैं। बेटी के जन्म के बाद ही ससुराल वालों ने उसकी बेटी के साथ उसको मायके भेज दिया। इस बात का युवती ने विरोध किया तो वह उसके साथ मारपीट करते थे। युवती ने तंग आकर पति साहिद, देवर आबिद, ससुर बशीर और सास सुल्ताना के खिलाफ 498ए/34/3/4 प्रताड़ना, एक से अधिक आरोपी और दहेज अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide Case: पुलिस का बर्खास्त सिपाही फंदे पर लटका

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!