PM Housing Fake Loan Fraud: विज्ञापन देकर लोगों को झांसा देता था गिरोह

Share

PM Housing Fake Loan Fraud: एक ही परिवार के तीन रिश्तेदारों का कारनामा, माइक्रो फायनेंस का बताते थे कर्मचारी

PM Housing Fake Loan Fraud
श्योपुर से गिरफ्तार बदमाश

भोपाल। प्रधानमंत्री आवास योजना में लोन दिलाने का झांसा (PM Housing Fake Loan Fraud) देने वाले गिरोह का खुलासा हुआ है। यह खुलासा मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) में स्थित सायबर यूनिट ने किया है। यह गिरोह तीन लोग मिलकर चला रहे थे। यह सारे एक ही परिवार के लोग है। जालसाजों (Bhopal Cyber Fraud Case) ने इस काम के लिए बकायदा एक कार्यालय भी खोल रखा था। ग्राहकों को फंसाने के लिए अखबारों में विज्ञापन भी देते थे। इसके बाद बातचीत करने और प्रोसेसिंग फीस के नाम पर बातचीत के लिए फर्जी सिम का इस्तेमाल करते थे।

दसवीं पास होने के बावजूद साजिश

भोपाल सायबर सेल एसपी गुरकरन सिंह (SP Gurkaran Singh) के पास इस संबंध में पिछले दिनों शिकायत मिली थी। इस शिकायत की जांच के बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपी सुरेश राजपूत (Suresh Rajput) पिता ओम प्रकाश राजपूत निवासी बजाज नगर श्योपुर, संजू राजपूत पिता बंशीलाल राजपूत ग्राम मितावली जिला श्योपुर और ब्रजपाल राजपूत (Brijpal Rajput) पिता ज्ञानचंद्र राजपूत निवासी ग्राम माकडौद जिला श्योपुर है। यह सारे आरोपी दसवीं पास भी नहीं है। यह काम आरोपी पिछले दो साल से कर रहे थे।

यह गिरोह का मास्टर माइंड

यह गिरोह बकायदा समाचार पत्रों में विज्ञापन देता था। इसके अलावा बल्क में एसएमएस भी भेजने का काम करता था। गिरोह माइक्रो फायनेंस कंपनी का कर्मचारी बनकर लोगों से बातचीत किया करते थे। वारदात के लिए ग्राहकों से खाता खुलवाया जाता था। आरोपियों ने 10 राज्यों के लोगों को अब तक ठगा (Online Cheating Case) जाना कबूल लिया है। मामले की जांच निरीक्षक चंद्रकांत पाटीदार (TI Chandrakant Patidar), एसआई दिलीप मौर्य और नीलम द्विवेदी ने की थी। पाटीदार ने बताया कि गिरोह का मास्टर माइंड सुरेश राजपूत (Suresh Rajput) है। आरोपी संजू राजपूत (Sanju Rajput), ब्रजपाल राजपूत और सुरेश को अदालत में पेश किया गया। जहां से तीनों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें:   Lockdown : FIR दर्ज होने पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने पूछा- भाजपा अध्यक्ष के खिलाफ क्यों नहीं

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!