MPEB में Job Fraud का लालच देकर सवा दो लाख रूपए की ठगी करने वाला दबोचा

Share

MPEB Job Fraud: रजिस्ट्रेशन व प्रोसेसिंग फीस के नाम पर बैंक खातों मे जमा कराई थी रकम, फर्जी ज्वाइनिंग लेटर भेजकर, ऑनलाईन ट्रेनिंग करवाता था जालसाज

MPEB Job Fraud
सांकेतिक चित्र

भोपाल। एमपीईबी में जॉब का लालच (MPEB Job Fraud) देकर ठगी की वारदात करने वाले जालसाज को दबोच लिया गया है। यह कार्रवाई भोपाल (Bhopal News) क्राइम ब्रांच के सायबर यूनिट ने की है। धोखाधडी करने वाले गिरोह के सरगना और उसके सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

चार महीने बाद दर्ज हुई थी एफआईआर

क्राइम ब्रांच थाना पुलिस ने इसी महीने सवा दो लाख रूपए का फर्जीवाड़े मामले में मुकदमा 135/22 दर्ज किया था। इस मामले में आरोपी शुभम पिछोडे और आकाश पटेल (Akash Patel) है। आरोपी बेरोजगार लोगों का डाटा लेकर उन्हें कॉल करते थे। पीड़िता के साथ जून, 2022 में फर्जीवाड़ा हुआ था। बेरोजगारों को झांसा देकर रजिस्ट्रेशन चार्ज, प्रोसेसिंग फीस, ट्रेनिंग फीस के नाम पर पैसा खातों में जमा कराते थे। जमा रकम में से 20 फीसदी खाता धारकों को कमीशन देने का काम शुभम पिछोडे (Shubham Pichode) करता था। आरोपियों के कब्जे से तीन मोबाइल, चार सिम कार्ड, तीन एटीएम कार्ड, पास बुक और अन्य दस्तावेज बरामद किए गए हैं। जांच और गिरफ्तारी की कार्रवाई में एसआई देवेन्द्र साहू, अंकित नायक, एएसआई पी चिन्ना राव, हवलदार प्रतीक उईके, आरक्षक सुनील सिलावट, प्रशांत शर्मा, सुरेन्द्र लामकुचे, रवि शिल्पी, महिला आरक्षक प्राची और पूजा सिंह ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

यह भी पढ़िएः तीन सौ रूपए का बिल जमा नहीं करने पर बिजली काटने के लिए आने वाला अमला, लेकिन करोड़ों रूपए के लोन पर खामोश सिस्टम और सरकार का कड़वा सच

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MPEB Job Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Vyapam Return's: एमपी कोटे की सीट फर्जी निवास प्रमाण पत्र से हासिल की
Don`t copy text!