Bhopal Injection Smuggling: रेमडेसिवर इंजेक्शन ब्लैक में बेचते गिरफ्तार

Share

Bhopal Injection Smuggling: क्राइम ब्रांच ने मेडिकल स्टोर में काम करने वाले आरोपी समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया

Bhopal Injection Smuggling
आरोपियों से बरामद इंजेक्शन जिसको ब्लैक में बेचा जा रहा था

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Injection Smuggling) के हमीदिया अस्पताल से रेमडेसिवर इंजेक्शन चोरी होने के बाद इसी शहर से उसको ब्लैक में बेचे जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। यह खुलासा भोपाल के क्राइम ब्रांच ने किया है। इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के कब्जे से चार इंजेक्शन भी मिले हैं। जिसको दोगुनी कीमत में बेचा जा रहा था।

सात हजार रुपए में खरीदे थे

क्राइम ब्रांच के अनुसार यह गिरफ्तारी शाहजहांनाबाद इलाके से की गई है। आरोपियों के कब्जे से इंजेक्शन के अलावा 24 हजार रूपये भी बरामद किए गए हैं। आरोपियों ने कबूला है कि वह यह इन्जेक्शन 07 हजार रूपये में खरीदकर 12 से 18 हजार रूपये में बेच रहे थे। क्राइम ब्रांच ने आरोपियों के खिलाफ धारा 269, 270 भादवि धारा 53/57 आपदा प्रबंधन अधिनियम, धारा 3 महामारी अधिनियम, धारा 3/7 आवश्यक वस्तु अधिनियम, धारा 5/13 म.प्र. ड्रग कन्ट्रोल अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है। गिरफ्तार आरोपी शाहजहांनाबाद निवासी नोमान खान (Noman Khan) मेडिकल दुकान में नौकरी करता था। वह इंजेक्शन बेचने के लिए दे रहा था।

यह भी पढ़ें: यदि इस डेटिंग एप्प को आपने इंस्टाल कर रखा है तो समझ लीजिए मुसीबत से दोस्ती कर ली

आरोपियों में डॉक्टर भी शामिल

Bhopal Injection Smuggling
क्राइम ब्रांच थाना— फाइल फोटो

घटना की पुष्टि करते हुए टीआई योगिता सातनकर (TI Yogita satankar) ने बताया कि आरोपी शमी खान (Shami Khan) पिता रहमान उल्ला खान उम्र 30 वर्ष निवासी आरिफ नगर शाहजहांनाबाद, अखलाक खान (Akhalaq Khan) पिता इबाद खान उम्र 24 वर्ष निवासी डीआईजी बंगला, डॉ एहशान खान (Dr Ahsan Khan) पिता रहमत खान उम्र 22 वर्ष निवासी एमआईजी कॉलोनी करोंद और नोमान खान पिता सईद खान उम्र 30 वर्ष निवासी कबीटपुरा शाहजहांनाबाद को अदालत में पेश किया जा रहा है। आरोपियों में एक डॉक्टर है। जिससे पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: बीच राह में युवती का पकड़ा हाथ, जनता ने पीटकर पुलिस को सौंपा

यह भी पढ़ें: जिस मरीज को डॉक्टर भी पीपीई किट पहनकर परीक्षण करते हैं उससे सिरफिरा मनचला आधी रात गंदी हरकत करने पहुंच गया

छिंदवाड़ा में भी पकड़ाया

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए शहर में आक्सीजन समेत दूसरी दवाओं की कमी के मामले सामने आने लगे हैं। भोपाल से पहले छिंदवाड़ा में भी एक व्यक्ति 899रुपए का रेमडेसिवर इंजेक्शन 18 हजार रुपए में बेचते हुए पकड़ाया है। आरोपी निजी अस्पताल में कंपाउडर है। उसको दबोचने से पहले फोन पर परिजनों ने उसकी रिकॉर्डिंग की थी। फिर उसकी पिटाई के बाद पुलिस को सौंपा गया। छिंदवाड़ा में कोरोना का संक्रमण बहुत फैला था। वहां की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराने का आरोप लगाकर शहर के छह विधायक धरना भी दे रहे हैं।

Don`t copy text!