Bhopal Crime : मुस्तैद पुलिस के लिए मुश्किलें खड़ी कर रहे चोर

Share
Bhopal Crime
सांकेतिक चित्र

राजधानी के कई इलाकों में चोरी की वारदात, नकदी—जेवर समेत 20 लाख रुपए का माल साफ, पुलिस को अब तक नहीं मिला सुराग

भोपाल। देशभर में सोमवार से गणेशोत्सव शुरू होने जा रहे हैं। देश की कई एजेंसियां अलर्ट भी जारी कर रही है। लेकिन, भोपाल पुलिस कितनी अलर्ट है, उसका (Bhopal Crime) घटनाओं से पता चलता है। हनुमानगंज, कोलार, पिपलानी समेत कई इलाकों में चोरी (Bhopal Theft) की वारदातें हुई। सभी वारदातों में पुलिस के पास सुराग के नाम पर कोई ठोस तथ्य नहीं हैं। यह हालात उस वक्त के हैं जब पुलिस हर रोज बाजारों में पैदल मार्च करने की तस्वीरें वायरल करती है।

जानकारी के अनुसार लालघाटी निवासी सुनील आडवाणी कारोबारी है। उनकी संगम टॉकीज के पास दुकान है। आयकर भरने के लिए दो दिन का वक्त था। उन्हें पांच लाख रुपए जमा करने थे। यह रकम लेकर सुनील अपने बेटे गिरीश के साथ निकले थे। तभी एक व्यक्ति ने इशारा करते हुए बताया कि कार से कुछ गिर रहा है। गिरीश बोनट खोलकर देखने लगा इसी बीच एक अन्य युवक ने पिता सुनील को इशारा किया। वह भी उतर गए। जब दोनों वापस कार में सवार होने लगे तो पांच लाख रुपए से भरा सूटकेस गायब था। हनुमानगंज पुलिस ने इस मामले में चोरी का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

इसी तरह पिपलानी पुलिस ने सुंदर नगर निवासी शिखा पाल की शिकायत पर चोरी का मामला दर्ज किया है। शिखा होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज में पढ़ती है। वह घटना के वक्त नानी के घर गई थी। पड़ोसी ने फोन करके चोरी की सूचना दी। मकान से चोर एलईडी टीवी, नकदी 30 हजार रुपए और शिखा की मां के जेवरात ले गए। कोलार थाना क्षेत्र स्थित राजहर्ष कॉलोनी निवासी सुमन रायबोले का पर्स ललिता नगर बाजार से चोरी चला गया। घटना के वक्त वह तीजा का सामान खरीद रही थी। पर्स में दो अंगूठी, चांदी की दो अंगूठी और एक चांदी की पायल थी। इसके अलावा नकदी 200 रुपए थे। पुलिस ने चोरी गए सामान की कीमत 45 हजार बताई है।

यह भी पढ़ें:   Extramarital Affairs : पति ने प्रेमिका के साथ मिलकर की थी पत्नी की हत्या, सबूत मिटाने लाश बोरे में भरकर फेंका नाले पर

क्यों है मुश्किल
दरअसल, इस वक्त त्यौहारों का सीजन शुरू होने वाला है। इस दौरान देश के कई इलाकों से चोर और जालसाजों का गिरोह अलग—अलग शहरों में मूवमेंट करता है। वह नजर बचाकर या झांसा देकर बैग, पर्स, सूटकेस चोरी कर ले जाने का काम करता है। कई वारदातों को अंजाम देने के लिए ऐसे बाहरी असामाजिक तत्व वाहन का इस्तेमाल करते हैं जो शहर से ही चोरी करते हैं। इन गिरोहों पर निगरानी का जिम्मा क्राइम ब्रांच के पास होता है।

स्कूल बस पार्किग से गायब
इधर, अवधपुरी थाना पुलिस ने बस चोरी हो जाने का मामला दर्ज किया है। शिकायत टैगोर नगर निवासी नरेश सिंह ने दर्ज कराई है। बस अवंतिका एवेन्यू के पास खड़ी थी। ड्राइवर विजय है जिसने जानकारी दी। बस में क्लीनर मनीष सोता था। वह भी गायब है। नरेश को शक है कि बस को मनीष लेकर भागा है। चूना भट्टी पुलिस ने कोटरा सुल्तानाबाद निवासी ओमपाल सिंह परमार की शिकायत पर बूलेट चोरी हो जाने की रिपोर्ट दर्ज की है। ओमपाल बालाजी सिक्यूरिटी में नौकरी करते हैं जिसका दफ्तर आम्र कुंज चूना भट्टी इलाके में हैं।

 

Don`t copy text!