Gwalior Road Mishap: बस—ऑटो में हुई भिड़ंत, तेरह लोगों की मौत

Share

Gwalior Road Mishap: ​जिस ग्वालियर संभाग ने शिवराज सरकार को जश्न मनाने का मौका दिया वहां से यह दिल दहला देने वाली खबर आई

Gwalior Road Mishap
सांकेतिक चित्र

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर (Gwalior Road Mishap) शहर के लिए मंगलवार सुबह अच्छी खबर के साथ नहीं आया। जब लोग नींद से जागे तब एक दर्दनाक हादसे में तेरह लोगों की मौत की खबर सामने आने लगी। यह हादसा बस और ऑटो के बीच हुआ था। मरने वालों में 12 महिलाएं हैं जो कि आंगनबाड़ी से लौट रही थी। घटना के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) समेत कई अन्य नेताओं ने शोक व्यक्त किया।

इसलिए हुआ हादसा

ग्वालियर पुलिस के अनुसार दुर्घटना पुरानी छावनी (Purani Chhavni Road Accident) इलाके में हुई थी। यहां हाईवे के नजदीक ग्वालियर से मुरैना की तरफ जा रही बस और ऑटो के बीच आमने—सामने की भिड़ंत हो गई। हादसे में ऑटो में सवार 12 महिलाओं की मौत हो गई। जबकि ड्रायवर की भी मौत हो गई। हादसे में मृत सभी महिलाएं गंगा मालमपुर स्थित आंगनबाड़ी में खाना बनाने जाती थी। महिलाएं पिंटो पार्क और उसके आस—पास नजदीक रहती थी। आंगनबाड़ी से अलग—अलग दो ऑटो में महिलाएं घर जाने के लिए सवार हुई थी। लेकिन, बीच रास्ते में एक ऑटो खराब हो गया। इस कारण दूसरे ऑटो में सवार होकर महिलाएं घर जा रही थी। तभी यह भीषण हादसा हो गया।

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस एसीपी की वर्दी वाली तस्वीर की कहानी जिसको भोपाल के लोग आसानी से भूल नहीं पाए

यह भी पढ़ें:   Bhopal Gaban Case: एग्रीमेंट करके मुकरा ठेकेदार, लगा माल निकाला

जय आरोग्य अस्पताल पहुंचाया

Bhopal Road Accident
सांकेतिक चित्र

घटना की जानकारी मिलने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने दुख जताया। उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में शोकाकुल परिवार के साथ पूरा प्रदेश है। सरकार मृतकों के परिवारों को चार—चार लाख रुपए और घायलों को 50 हजार रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया गया। इसके अलावा सरकार ने उर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को मौके पर पहुंचाया। शव को पीएम के लिए जय आरोग्य अस्पताल पहुंचाया गया है। पुलिस ने बस ड्रायवर को हिरासत में ले लिया है। पुलिस बस से जुड़ी जानकारी भी जुटा रही है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!