चीन का यान मंगल ग्रह पर उतरा

Share

China Mars Mission: सात महीने बाद मंगल ग्रह की जमीन पर प्रक्षेपित किया गया यान

China Mars Mission
मंगल ग्रह पर यान— सांकेतिक चित्र

दिल्ली। चीन के अंतरिक्ष यान तियानवेन—1 शुक्रवार को मंगल ग्रह (China Mars Mission) में उतर गया। यह यान नौ महीने और 21 दिन बाद मंगल ग्रह पर पहुंचा। चीन का अंतरिक्ष यान दो महीने पहले ही मंगल के अंतरिक्ष में पहुंच गया था। उसने यान उतारने के लिए इस दौरान स्थान का चयन किया। जिसके बाद यह कामयाबी के रुप में चीन के वैज्ञानिक पूरी दुनिया की नजर में सफलता के झंडे लगाने में सफल रहे। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने मिशन से जुड़े सभी वैज्ञानिकों और अन्य सदस्यों को बधाई दी है।

हाईटेक तकनीक हो रहा इस्तेमाल

चीन की समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार यह अंतरिक्ष यान 23 जुलाई, 2020 को मंगल ग्रह के लिए रवाना किया गया था। मंगल ग्रह जिसकी लालिमा के चलते उसको लाल ग्रह नाम से भी पुकारा जाता है। इस ग्रह पर कामयाबी के लिए अमेरिका, ब्रिटेन और भारत भी प्रयास कर चुके हैं। चीन के अंतरिक्ष यान में आर्बिटर, लैंडर और एक रोवर है। अंतरिक्ष यान करीब 240 किलोग्राम वजनी है। इसमें छह पहिए और चार सौलर पैनल लगे हैं। यह यान हर घंटे लगभग 200 मीटर घुम सकता है।

यह भी पढ़ें: यदि आपने दोस्त बनाने के लिए इस डेटिंग एप्प को डाउनलोड किया है तो उन चेहरों के बारे में जान लीजिए जो आपके लिए मुश्किलें खड़ी करेंगी

तीन महीने करेगा अध्ययन

शिन्हुआ समाचार एजेंसी के अनुसार अंतरिक्ष यान में आधुनिक कैमरे, रडार और मौसम संबंधी उपकरण भी है। यह यान करीब तीन महीने तक मंगल ग्रह में अध्ययन करेगा। मंगल ग्रह में नासा का भी विमान उतर चुका है। वह भी 18 फरवरी से मंगल ग्रह पर अध्ययन कर रहा है। भारत का यान 2014 में मंगल ग्रह पर उतरा था। लेकिन, उसके बाद वह काम नहीं कर सका। उसके अवशेष काफी दिनों बाद दिखाई दिए थे।

यह भी पढ़ें:   Seoni crime : वीडियो में देखिए गौरक्षा के नाम पर दरिंदगी
Don`t copy text!