घर जाने के लिए हिंसक हुए प्रवासी मजदूर, पुलिस पर फेंके पत्थर

तोड़फोड़ और आगजनी की वारदात को भी दिया अंजाम, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

मजदूरों को काबू करती पुलिस, फोटो- एएऩआई

अहमदाबाद। Ahmedabad गुजरात के अहमदाबाद में प्रवासी मजदूरों (Migrant Worker) ने हंगामा कर दिया। घर जाने की मांग को लेकर बेकाबू हुए मजदूरों ने पुलिस पर पत्थरबाजी की। पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो मजदूरों ने आगजनी और तोड़फोड़ पर कर दी। जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज, आसू गैस के गोलों से भीड़ पर काबू पाया। 100 से ज्यादा प्रवासी मजदूर अचानक सड़क पर उतर आए थे। एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि लगभग 100 प्रवासी मजदूर आईआईएम अहमदाबाद को वास्तुपुर से जोड़ने वाली सड़क पर उतर आए। एक स्थानीय व्यक्ति ने दावा किया कि प्रवासी श्रमिक मांग कर रहे थे कि उन्हें अपने मूल स्थानों पर वापस जाने दिया जाए। शहर के पुलिस नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने दंगाइयों को तितर-बितर करने के लिए आंसूगैस के गोले दागे और कई संदिग्धों को हिरासत में लिया। उन्होंने कहा कि लगभग 100 प्रवासी सुबह अचानक सड़क पर आ गए और अंधाधुंध पथराव (stone-pelting) करने लगे।

घटना की जानकारी मिलने पर भारी पुलिस बल मौके पर रवाना किया गया। अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसूगैस के गोले दागे और स्थिति को नियंत्रण में लाया। उन्होंने कहा कि इलाके में छिपे अपराधियों को पकड़ने के लिए पास में एक मजदूरों की बस्ती में ऑपरेशन चलाया जा रहा है, उन्होंने कहा कि कई संदिग्धों को मौके से हिरासत में लिया गया है। हंगामा कर रहे मजदूरों ने पुलिस के दो वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया। साथ ही एक ऑफिस में भी तोड़फोड़ की। इस हमले में दो पुलिसकर्मी घायल हुए है।

यह भी पढ़ें:   चुनाव से पहले ही रिलीज होगी पीएम मोदी पर फिल्म
Don`t copy text!