Pakistani Killer Cop: जिसने 400 से अधिक एनकाउंटर किए वह आज सलाखों के पीछे

अमेरिका ने भी काली सूची में डाला, सिंध पुलिस का बेताज बादशाह रहे राव अनवर की पूरी कहानी, 33 साल की नौकरी में किए सारे एनकाउंटर, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी कर चुके थे विरोध

Pakistan Killer Cop
पाकिस्तान सिंध प्रांत का किलर कॉप से मशहूर पुलिस का अफसर राव अनवर

दिल्ली। दुनियाभर के कुख्यात बदमाशों (Most Wanted) की कहानियां आपने बहुत सुनी होगी। लेकिन, आज हम आपको पाकिस्तान के एक पुलिस अधिकारी (Pakistan Police Officer) की कहानी बता रहे है। एक जमाने में उसका आतंक (Pak Police Officer Terror) इतना होता था कि लोग उसका नाम सुनते ही वह सबकुछ कर देते थे जो फिल्मों में दिखाया जाता था। उसने 33 साल तक पाकिस्तान पुलिस की सेवाएं दी। इस सेवा के दौरान उसने 400 से अधिक एनकाउंटर (Pakistan Police Officer Encounter) किए। उसकी तस्वीरें दबंग पुलिस अफसर के रूप में एक जमाने में छपा करती थी। अब यह अफसर सीखचों के पीछे हैं। इसकी वजह भी कई है। इसमें से एक प्रमुख वजह अमेरिका है। अमेरिका की नाराजगी के बाद इस अफसर के खिलाफ पाकिस्तान की इमरान (Pakistan Prime Minister Imran Khan) सरकार भी सख्त हुई। इस अफसर का नाम सुनकर थर्र—थर्र कांपने वाले विभाग के अफसर ही उसके पीछे ऐसे पड़े की उसको कोर्ट में जाकर समर्पण करना पड़ा।
इस अफसर का नाम है राव अनवर (Pak Officer Rao Anvar)। कभी सिंध पुलिस (Sindh Police) की आंखों का यह तारा अब पाकिस्तान (#Pakistan) की फजीहत की वजह भी बन गया है। इसकी सरकारी गोलियां से एक—दो—तीन नहीं बल्कि 400 से अधिक एनकाउंटर (Pakistani Encounter Specialist) हुए। राव अनवर (#Rao Anvar) की मुश्किलें उसके रिटायर होने के बाद बड़ी। अब वह सलाखों के पीछे है। उसकी वजह है कस्टोडियल डेथ (Pakistan Custodial Death) के मामले में खुली जांच। वह अदालत के सामने भी ऐसे ही हाजिर नहीं हुआ। उसको पकड़कर लाने के लिए पाकिस्तान सरकार (#Pakistan Government) को उसका बैंक खाता फ्रीज करना पड़ा। जब उसके पास पैसों के लाले पड़ गए तो वह भीगी बिल्ली की तरह कोर्ट में सरेंडर करने पहुंच गया। एक दौर था जब वह दुबई समेत कई मुल्कों की सैर करता था। उसके पासपोर्ट की पड़ताल में मालूम हुआ है कि वह 74 बार दुबई गया था। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियां अब उस दौरों का ब्यौरा जुटा रही है। आरोपी राव अनवर (@Rao Anvar) अब पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट और हवालात के चक्कर ही काट रहा है। राव अनवर की तलाश तब शुरू हुई थी जब वजीरिस्तान के एक व्यक्ति नकीबुल्लाह महसूद की हत्या मामले में जांच की गई। उसकी मुठभेड़ में मौत हुई थी। इस मुठभेड़ में तीन लोग मारे गए थे।
यह भी पढ़े: मध्यप्रदेश का एक ऐसा डकैत जो पुलिस के रिकॉर्ड में फरार चल रहा है पर उत्तर प्रदेश की राजनीति में नाम कमा रहा है

यह भी पढ़ें:   पाकिस्तान के विदेश मंत्री का दावा, इस तारीख को भारत फिर करेगा हम पर बड़ा हमला

उसके एनकाउंटर को पाकिस्तान के न्यायाधीश साकिब निसार (Pakistan Justice Sakib Nisar) की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय बैंच ने संज्ञान में लिया था। अदालत के एनकाउंटर के संज्ञान लेने के बाद पाकिस्तान सरकार ने उसको निलंबित कर दिया था। राव अनवर के वकीलों ने उसको बचाने की काफी कोशिश भी की थी। लेकिन, वह गिरफ्तारी से नहीं बच सका। जस्टिस निसार के सामने राव अनवर कई पेशी में पहले हाजिर ही नहीं हुआ था। इस बात पर अदालत ने उस पर टिप्पणी भी की थी। राव अनवर पर आरोप है कि वह पाकिस्तान के कुछ नेताओं का नेटवर्क भी चलाता था। राव अनवर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (#Pakistan Prime Minister Imran Khan) के चुनाव प्रचार के दौरान भी सुर्खियों में आया था। लेकिन, प्रधानमंत्री बनने के बाद इमरान खान ने भी चुप्पी साध ली थी।

Don`t copy text!