Uttar Pradesh Crime: दलित से गैंग रेप के बाद दबंगों ने जिंदा जलाया

Share

उत्तर प्रदेश के आदित्य नाथ योगी सरकार ​फिर विपक्ष के निशाने पर, आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए जगह—जगह दबिश

Uttar Pradesh Gang Rape
सांकेतिक फोटो

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के दलित युवती (Dalit Woman) के साथ गैंग रेप (Geng Rape) का मामला सामने आया है। मानवता को झकझोर देने वाली यह घटना अलीगढ़ (Aligarh Crime) जिले ​की है। यहां दो दबंगों ने गैंग रेप के बाद युवती को जिंदा जला (Burn Alive) दिया है। इस घटना के बाद मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी (Chief Minister Adityanath yogi) एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर आ गए है। गैंग रेप के बाद राजनीतिक बयानों को देखते हुए पुलिस प्रशासन मुस्तैद हो गया है। उसने आरोपियों की धरपकड़ के लिए कई जगह दबिश दी है।
घटना तीन दिन पहले हुए उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में चंडौस थाना क्षेत्र में हुई थी। यहां एक दलित युवती के साथ दो लोगों ने गैंग रेप (Aligarh Gang Rape Case) किया था। उस वक्त युवती की मां खेत गई हुई थी। घर के नजदीक रहने वाले दो दबंग युवती पर पहले से ही बुरी नजर रखते थे। युवती को घर में अकेला पाकर दोनों घर में घुस गए। युवती ने दोनों आरोपियों को घर में आता देख बचाने के लिए जैसे ही लोगों को आवाज देकर आने के लिए मुंह खोला। दोनों ने युवती का मुंह दबा दिया। दोनों दबंगों ने युवती के साथ एक—एक करके सामुहिक गैंग रेप किया। ​उसके बाद युवती को इस मामले में अपना मुंह बंद रखने के लिए बोला पर युवती ने दोनों आरोपियों के खिलाफ थाने में जाने का कहा। इस कारण दोनों दबंगों ने युवती को केरोरिन ड़ालकर जिंदा जला दिया। ​युवती को जला कर दोनों आरोपी जैसे ही घर से भागे उसी समय पीड़ित युवती की मां आ गई। उसने दोनों को भागते हुए देख लिया। युवती की मां जैसे ​ही घर में दाखिल हुई तो देखा ​कि उसकी बेटी जल रही है। उसने बेटी को बचाने के लिए पानी डाला। युवती को मां ने निजी अस्पताल में उसको भर्ती कराया। युवती के साथ हुए गैंग रेप (Uttar Pradesh Gang Rape Case) ​की सारी घटना को अस्पताल प्रबंधन के जरिए थाने में सूचना ​दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़ित युवती का बयान लेते हुए दोनों आरोपी दबंगों के खिलाफ गैंग रेप का मामला दर्ज कर लिया है।
इस मामले के खिलाफ विपक्ष ने मोर्चा खोल दिया है। समाजवादी पार्टी (Samajvadi Party) के नेताओं ने योगी सरकार पर दबंगों को बढ़ावा ​देने और दलितों पर कहर ढ़ाने के आरोप लगाए है। सपा के नेताओं ने ​पीड़ित परिवार से भी मुलाकात ​की है। इधर, मामले के राजनीतिक तुल पकड़ने के बाद आरो​पियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने घेराबंदी शुरू कर दी है। इसके लिए पुलिस की टीम जगह—जगह दबिश दे रही है।

यह भी पढ़ें:   मंदिर में बंधक बनाकर पुजारी ने मासूम से किया कुकर्म
Don`t copy text!