Lakhimpur Khiri Kand: देश में कमजोरों को दबाने की साजिश

Share

Lakhimpur Khiri Kand: पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का भाजपा सरकार पर हमला

Lakhimpur Khiri Kand
राहुल गांधी,पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष, कांग्रेस पार्टी- File Photo

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Khiri Kand) में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे के वाहन से मृत किसानों के परिवार से मिलने के लिए कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी लखनउ पहुंचे। हालांकि प्रशासन ने धारा 144 का हवाला देकर मृत किसानों के परिजनों से मुलाकात करने से रोक दिया। इससे पहले राहुल गांधी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि वे कांग्रेस शासित दो राज्यों के मुख्यमंत्री के साथ वहां जाएंगे। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा कि किसानों और आम आदमियों के हक को छीना जा रहा है। हम विपक्ष में पार्टी होने के नाते सरकार पर दबाव बनाने जारहे हैं। जिसके लिए हमें रोका जा रहा है।

यूपी में अलग तरह की राजनीति

राहुल गांधी ने कहा कि देश के किसानों को सुनियोजित तरीके से उनके अधिकारी छीने जा रहे हैं। इसलिए देश के किसान दिल्ली के बाहर बैठकर विरोध कर रहे हैं। मंगलवार को प्रधानमंत्री लखनऊ में थे। इसके बावजूद लखीमपुर नहीं जा सके। किसानों के शव के पीएम ठीक तरीके से नहीं किए जा रहे हैं। गांधी ने कहा कि आज मैं किसानों के परिवार से मिलूंगा। हालांकि प्रशासन ने राहुल गांधी को अनुमति नहीं दी थी। राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि धारा 144 के तहत पांच लोग नहीं जा सकते। इसलिए हमने तीन लोगों के नाम प्रशासन को दिए हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अलग तरह की राजनीति हो रही है।

यह भी पढ़ें:   खड़े ट्रक में घुसी स्कूटी, ससुर-दामाद की दर्दनाक मौत

यह भी पढ़िए: भोपाल के ‘विजय माल्या’ की कहानी, सिस्टम और सरकार उसके आगे नतमस्तक हैं, नहीं तो इतना सबकुछ होने पर भी वह नहीं बचता

आम जनता की जेब से चोरी

राहुल गांधी ने कहा कि दूसरी पार्टी के नेताओं को जाने की अनुमति दी जा रही है। केवल कांग्रेस को रोका जा रहा है। विपक्ष का काम सरकार पर दबाव बनाने का होता है। इस कारण कार्रवाई होती है। सरकार नहीं चाहती कि लखीमपुर मामले में दबाव बनाया जाए। हमारी पार्टी ने हाथरस मामले में भी दबाव बनाया। उन्होंने मीडिया की जिम्मेदारी पर भी सवाल खड़ा किया। मीडिया को विपक्ष से ही सवाल पूछने पर भी तंज कसा। राहुल गांधी ने कहा कि देश के संवैधानिक ढ़ाचे को भाजपा और आरएसएस ने काबू में किया है। मीडिया भी अभी सरकार के कब्जे में हैं। देश में इस वक्त डिक्टेटरशिप है। देश में छोटे व्यापारी, किसानों और आम जनता की जेब से चोरी की जा रही है।

यह है पूरा मामला

राहुल गांधी ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि गांधी परिवार मुद्दे उठाने पर हमें जेल या हमले से फर्क नहीं पड़ता। हम लोग मैदानी सच्चाई का पता लगाने जारहे हैं। अब तक भीम आर्मी और टीएमसी के नेता ही लखीमपुर खीरी जाने में कामयाब रहे हैं। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा ने किसानों को चुनौती दी थी। जिसका वे विरोध कर रहे थे। इसी दौरान उनके बेटे के वाहन ने चार किसानों को कुचलकर मौत के घाट उतार दिया था। विपक्ष गृह राज्य मंत्री से इस्तीफा मांग रहा है। वहीं कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी भी सोमवार से सीतापुर में नजरबंद है। उन्हें भी लखीमपुर जाने से रोकते हुए हिरासत में लिया गया था।

यह भी पढ़ें:   CRPF जवान ने किया सुसाइड, ऑनलाइन जुआ खेलने की लग गई थी लत
Don`t copy text!