UP Murder: सौतेले पिता ने बच्ची का गला रेंता

Share

बेटी की हत्या के बाद खुद पर चाकू से कर लिए वार

UP Brutal Murder Case
सांकेतिक फोटो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) कि प्रयागराज (Prayagraj Crime) जिले से एक दिल दहला देने (Shocked News) वाली घटना सामने आई है। यहां एक सौतेले पिता ने अपनी तीन साल की बच्ची को मौत (Minor Brutal Murder) के घाट उतार दिया। मासूम का गुनाह सिर्फ इतना साथ था कि उसने पिता से महज 10 रुपए की चीज दिलाने की जिद कर ली थी। इसी बात से नाराज पिता ने उसको मार डाला। इसके बाद आरोपी ने अपने आपको भी चाकू मारकर जख्मी कर लिया। उसका फिलहाल पुलिस के पहरे में इलाज चल रहा है।

जानकारी के अनुसार यह घटना उत्तर प्रदेश (#Uttar Pradesh Crime) के प्रयागराज (#Prayagraj Crime) जिले के खुल्दाबाद के चौफटका चकनिरातुल इलाके की है। मृतका की मां ने पुलिस को घटना की सूचना दी थी। जिस बच्ची का बेरहमी से कत्ल किया गया उसकी पहचान पंखुड़ी (Pankhudi) तीन साल के रूप में हुई है। मृतक की मां पिंकल (Pinkal) मूल रूप से सिद्धार्थ नगर जिले के भवानीपुर स्थित बयारा डुमरियागंज गांव की रहने वाली है। उसकी शादी वहीं के एक युवक के साथ कई साल पहले हुई थी। दोनों के तीन बचचे हुए थे। पंखुडी तीनों बच्चों में सबसे छोटी थी। शादी के कुछ साल बाद वह पति से अलग हो गई थी। वह पति को छोड़कर गांव आ गई थी। इसी दौरान करीब पांच महीने पहले उसकी मुलाकात गांव के ही राजेंद्र अग्रहरि 28 साल से हुई। दोनों की मुलाकात प्यार में बदली और शादी तक पहुंच गई। शादी के बाद उसने दोनों बेटो को उसके पिता के पास छोड़ा और पंखुडी को लेकर छत्तीसगढ़ के रायपुर चली गई थी। शादी के बाद दोनों बच्चों से दूर पत्नी को देख उससे रहा नहीं गया। राजेंद्र करीब एक महीने पहले दोनों बच्चों को लेकर शहर आ गया। जिसके बाद पूरा परिवार खुल्दाबाद के चौफटका चकनिरतुल में शांति देवी के मकान में किराये से रहने लगा। घटना वाली शाम पंखुडी को लेकर राजेंद्र (Killer Rajendra) के साथ वह पास के बाजार गई थी। पंखुडी बाजार में गुब्बारे दिलाने की जिद करने लगी थी। राजेंद्र आक्रोशित होकर उसे रास्ते में ही पीटने लगा। उसका विरोध करने पर वह पत्नी से भी झगड़ा करने लगा था। उसने पत्नी को वहीं अकेला छोड़ पंखुडी को लेकर घर आ गया।

यह भी पढ़ें:   अपहरण के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस पार्टी का एक्सीडेंट, 3 की मौत
पिंकल ने बताया की वह रात भर पंखुडी के साथ खुद को कमरे में बंद कर लिया था। रात भर मृतक की मां कमरे के बाहर से गेट खोलने के लिए गिडगिड़ाती रही। सुबह तक आरोपी ने गेट नहीं खोला तो वह पास के लोगों को लेकर आई और गेट को तुड़वा दिया। गेट खुलते ही अंदर का नजारा देख सब के होश उड़ गए थे। फर्श पर पड़ी बच्ची की खून से सनी लाश पड़ी थी। आरोपी ने बच्ची का गला रेतने के बाद खुद पर भी चाकू से वार किए थे। पुलिस ने महिला के बयान के बाद पंखुडी का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। आरोपी का पुलिस की निगरानी में अस्पताल में उपचार कराया जा रहा है।
Don`t copy text!