Rajsthan Brutal Murder: बारह साल की बेटी ने हत्या की, मां ने बोरे में भरकर शव तालाब में फेंका

Share

नाबालिग बेटी के गुनाह के सबूत मां ने मिटाए तो वह भी बनी आरोपी, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

 

Rajisthan Brutal Murder
सांकेतिक फोटो

जयपुर। व्यक्ति में सहने की क्षमता काफी कमजोर हो गई है। वह चाहे वृद्ध हो या बच्चा। यकीन नहीं होता न, हमें भी नहीं हुआ था। मामला राजस्थान (Rajasthan Brutal Murder) की राजधानी जयपुर (Jaipur Brutal Minor Killing) से सामने आया है। यहां 13 साल की बच्ची ने 12 साल की बच्ची की निर्मम तरीके से हत्या (Minor Killing) कर दी। इस हत्याकांड का राज उजागर करने की बजाय बाल अपचारी की मां अपनी बेटी को बचाने के लिए दूसरा गुनाह करने लग गई। उसने बच्ची की लाश को ठिकाने लगाने का ऐसा इंतजाम किया कि वह बची रह जाए। पर पुलिस ने भौतिक सबूत ऐसे जुटाए जिसके बाद दिल दहला देने वाला यह हत्याकांड उजागर हो गया।

राजस्थान (#Rajasthan Brutal Murder) के जयपुर (#Jaipur Brutal Murder) से सामने आए इस मामले के खुलासे के बाद हर कोई सुनकर हैरान है कि ऐसा भी होने लगा है। मामला चाकसू के बड़ली गांव में रहने वाली छात्रा से जुड़ा है। वह बुधवार दोपहर से लापता थी। उसकी गुमशुदगी की गुत्थी जयपुर पुलिस के लिए चुनौती से कम नहीं थी। परिजनों के मुताबिक छात्रा पड़ोस में सहेली से मिलने गई थी। उसके बाद वह वापस नहीं लौटी। देर रात तक जब वह घर नहीं आई तो परिजनों ने बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस जब बच्ची की तलाश में पड़ोस के घर में पूछताछ के लिए गए तो पहले परिवार ने सहयोग नहीं किया फिर कहने लगे वह घर ही नहीं आई। पुलिस को सुराग तब मिला जब दोनों बच्चियों के बीच पैन को लेकर हुए विवाद की बात निकलकर सामने आई। यहां से मिला सुराग पुलिस के लिए हत्याकांड सुलझाने के लिए संजीवनी बन गया। परिवार पुलिस के सवालों मेें घिरता चला गया। इसके बाद पुलिस ने निर्णय लिया कि वह मकान की तलाशी लेगी। पुलिस ने तलाशी शुरू की तो बच्ची के कान की बाली उसको मिली। यहां से पुलिस ने सख्ती दिखाना शुरू किया। जिसके बाद परिवार ने उसकी हत्या करना कबूल लिया।

यह भी पढ़ें:   Jaipur Crime : ससुर से थे अवैध संबंध, बहू ने सास को रास्ते से हटाया

यह भी पढ़ें: बच्ची को नहीं तलाश पा रही देश की सबसे बड़ी एजेंसी सीबीआई

ऐसे उतारा मौत के घाट
आरोपी परिवार का राज उस बच्ची ने उजागर किया जिसकी वजह से उसकी हत्या हुई थी। उसने  बताया कि बच्ची घटना वाली शाम उसके घर आई थी। इससे पहले स्कूल में दोनों की पैन को लेकर विवाद हो गया था। इसी विवाद के चलते उसके घर आने पर उसने बच्ची को लोहे की रॉड से 19 वार किए। जिससे वह मर गई। उस वक्त घर पर कोई नहीं था। सबसे पहले घर पर मां आई। उसके आने के बाद लोहे से हमला करने वाली बच्ची ने हत्या की सूचना दी। जिसको सुनने के बाद मां की आंखें फटी रह गई। वह आधे घंटे तक सोच ही नहीं पाई की अब क्या करे। इस कारण बच्ची के शव को बोरे में भरकर बैसमेंट में छिपा दिया।

मोक्ष दिलाया पिता ने
इस खुलासे के बाद पुलिस लाश बरामद करने के लिए निकली। पर उसको लाश नहीं मिली। फिर आरोपी मां ने बताया कि उसने लाश घर से 500 मीटर दूर तालाब में फेंका है। लाश बाहर न निकले इसलिए बोरे में शव के साथ पत्थर भर दिए थे। शव को ठिकाने लगाने के बाद बच्ची केे पिता को घटना की जानकारी दी थी। हत्या की बात सुनते ही पिता के भी होश उड़ गए थे। वह घर पहुंचा। उसने कहा कि बच्ची को मोक्ष नहीं मिलेगा। इसलिए उसने तालाब से शव बाहर निकाला और उसको जला दिया। पुलिस ने इस मामले में बाल अपचारी बालिका समेत उसके माता—पिता को भी गिरफ्तार कर लिया है।

Don`t copy text!