समय पर नहीं सोया 8 साल का बच्चा, मिली मौत की सजा

Share

जानिए कैसे मौत की वजह बन गई मामूली सी बात

सांकेतिक चित्र

मुंबई। बच्चों का समय पर न सोना आम बात है, अक्सर माता-पिता की डांट खाने के बाद ही बच्चे सोते है। लेकिन ये मामूली सी बात किसी बच्चे के लिए मौत की सजा बन जाएगी, ये कोई सोच भी नहीं सकता। मुंबई (Mumbai) से लगे पनवेल (Panvel) में समय पर न सोने की वजह से एक मासूम की हत्या कर दी गई। बच्चे का देर रात तक जागना उसके सौतेले पिता को इतना नागवार गुजरा कि उसने गला घोंटकर बच्चे को मौत के घाट उतार दिया। जिसके बाद आरोपी पिता ने अपने दोस्त के साथ मिलकर बच्चे के शव को बोरी में बांधकर कचरे के ढ़ेर में फेंक दिया। पुलिस ने सौतेले पिता और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। घटना मुंबई से लगे पनवेल की है। जहां एक ऑटो ड्राइवर राकेश अंबाजी ताम्बड़े (32) अपने परिवार के साथ सड़क किनारे रहता था। मंगलवार देर रात पुलिस ने राकेश और उसके दोस्त रमेश को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बुधवार को कहा कि ताम्बे, उसकी पत्नी और उसका सौतेला बेटा सूरज पनवेल शहर में सड़क के किनारे खुले में सो रहे थे। जब लड़के ने समय पर सोने से इनकार कर दिया तो ताम्बे ने अपना आपा खो दिया और सूरज की गला घोंटकर हत्या कर दी। जिसके बाद रमेश के साथ मिलकर सूरज के शव को एक बोरी में भरा और सड़क किनारे कचरे के ढ़ेर में फेंक दिया। नवी मुंबई के पुलिस कमिश्नर संजय कुमार ने बताया कि पूछताछ के दौरान ताम्बडे ने पुलिस को बताया कि लड़के के सोने से इंकार करने से उसे गुस्सा आ गया था। लेकिन जांचकर्ता यह पता लगाने की कोशिश कर रहे है कि क्या यहीं असली वजह है। दोनों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया गया। एक स्थानीय अदालत ने उन्हें 23 दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है।

यह भी पढ़ें:   ससुराल वाले करते थे प्रताड़ित, महिला ने दो बच्चों के साथ कर ली आत्महत्या
Don`t copy text!