Bhopal News: एक हसीना के दो दीवाने, पार्टी बन गई पुलिस

Share

Bhopal News: प्रेमिका के नए प्रेमी को फंसाने के लिए महिला से दर्ज कराई थी लूट की एफआईआर

Bhopal News
गोविंदपुरा थाना—फाइल फोटो

भोपाल। दिल किसी पर आ जाए तो पाने के लिए दिमाग बहुत कुछ कर जाता है। बात आपको समझ नहीं आई होगी। थोड़ी सरल भाषा में कहे तो एक हसीना के दो दीवाने थे। पहले दीवाने ने दूसरे को रास्ते से हटाने के लिए गहरी साजिश रची। मामला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal News) के गोेविंदपुरा इलाके का है। दरअसल, पुलिस ने लूट का मुकदमा दर्ज किया था। जिसको पुलिस ने मीडिया से छुपा भी रखा था। उसे लग रहा था कि कहीं लॉक डाउन में यह भोपाल की ताजा न्यूज के साथ—साथ ब्रेकिंग खबर न बन जाए। इसलिए भीतर ही भीतर पड़ताल करती रही। जांच में जो कहानी सामने आई वह जानकार पुलिस भी हैरान रह गई।

यह थी घटना जिसको छुपाया गया

गोविंदपुरा थाना पुलिस ने 17 मई को लूट का एक केस दर्ज किया था। जिसकी शिकायत शशि परिहार प​ति विजय सिंह परिहार ने दर्ज कराई थी। वह गौतम नगर में स्थित रामायण काम्पलेक्स में रहती थी। उसका दावा था कि बाइक सवार उसकी सोने की चेन छीनकर भाग गए हैं। पुलिस को एक बाइक का नंबर भी मिला था। जिसको तलाशा गया तो वह भोपाल में ही नहीं था। यह जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने नए सिरे से शशि परिहार से पूछताछ की। इसमें वह टूट गई और उसने सारा सच उजागर कर दिया।

यह भी पढ़ें: जेके अस्पताल की आंख का तारा, जिसको पुलिस तलाश रही है पर नौकरी से उसको आज भी नहीं निकाला गया

यह भी पढ़ें:   Political Crime : कांग्रेस नेता के एनजीओ को मदद की आड़ में भाजपा नेताओं ने माल कमाया

इसलिए दर्ज कराया मुकदमा

Bhopal News
सांकेतिक चित्र

शशि परिहार (Shashi Parihar) से हुई पूछताछ में उसने बताया कि ऐसा करने के लिए उसको रविश कुमार भोला पिता सतीश कुमार उम्र 38 साल ने बोला था। वह रोहित नगर स्थित जय भवानी सोसायटी शाहपुरा इलाके में रहता है। रविश कुमार भोला (Ravish Kumar Bhola) पेशे से वकील भी है। महिला ने बताया कि उसको लूट की एफआईआर दर्ज कराने पर पैसा देने का लालच दिया गया था। रविश कुमार भोपाल अपनी प्रेमिका के दूसरे प्रेमी सुजीत नारायण शर्मा (Sujit Narayan Sharma) को वह फंसाना चाहता था। इसलिए शशि परिहार की मदद से लूट की झूठी रिपोर्ट लिखाई गई।

Don`t copy text!