Bhopal Dowry Case: भाई के प्यार से पत्नी को ऐतराज

Share

Bhopal Dowry Case: पति के खिलाफ मामला दर्ज कराने पहुंची महिला

Bhopal Dowry Case
                               सांकेतिक चित्र

भोपाल। भाईयों के बीच रिश्ते अटूट होते हैं। लेकिन, इन रिश्तों की वजह से एक वैवाहिक जीवन में मनमुटाव (Bhopal Dowry Case) हो गया। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। पुलिस ने दहेज प्रताड़ना (Bhopal Domestic Violence) का मामला दर्ज किया है। पत्नी का आरोप है कि उसका पति सारी कमाई लाकर उसके बड़े भाई को दे देता है। उसको घर चलाने के लिए मायके से मदद लेनी पड़ती है। इधर, एक अन्य दहेज प्रताड़ना का भी मामला दर्ज किया गया है।

आठ साल पहले हुई थी शादी

पीड़िता का मायका भोपाल के शाहजहांनाबाद इलाके में है। जबकि उसकी ससुराल करोद इलाके में हैं। पति वसीम खान (Wasim Khan) है जिससे पीड़िता की शादी वर्ष 2012 में हुई थी। वसीम खान एक मेडिकल स्टोर में काम करता है। जहां से उसको 15 हजार रुपए वेतन मिलते हैं। यह वेतन वह अपने भाई इमरान (Imran Khan) को दे देता है। इमरान उसका जेठ है और जेठानी शहनाज (Shahnaj Khan) भी उसको कोसती है। जेठ—जेठानी रकम नहीं देते। इसलिए बच्चों की परवरिश के लिए उसको मायके से मदद लेनी पड़ती है। पुलिस ने 6 सितबंर को करीब चार बजे मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में धारा 498ए/34 (प्रताड़ना और एक से अधिक आरोपी) का मुकदमा दर्ज किया है।

दहेज में मांगे 10 लाख रुपए

इधर, महिला थाना पुलिस ने दहेज प्रताड़ना का एक अन्य मुकदमा दर्ज किया है। यह मुकदमा 6 सितंबर की शाम करीब साढ़े छह बजे दर्ज किया गया है। इस मामले के आरोपी पति सूचित पाटनी (Suchit Patni), सास रेखा पाटनी (Rekha Patni), ससुर अजीत पाटनी (Ajit Patni) और ननद केतकी है। पीड़िता का मायका इंद्रपुरी इलाके में है। घर के नजदीक ही उसकी ससुराल भी है। पीड़िता का कहना है कि आरोपी पति सूचित पाटनी और उसका परिवार दहेज में दस लाख रुपए मांग रहा है। आरोपों के आधार पर पुलिस ने धारा 498ए/34/3/4 (प्रताड़ना, एक से अधिक आरोपी और दहेज अधिनियम) के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide Case: दो लोगों ने की आत्महत्या

यह भी पढ़ें: किसानों के समर्थन में पूर्व मुख्यमंत्री रहते मौजूदा मुख्यमंत्री ने ऐसी दिखाई थी तत्परता लेकिन अब

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!