Bhopal Crime: Video में देखिए जाति को लेकर टीआई ने पति—पत्नी को कैसे कोसा

Share

समाज में टीआई के खिलाफ रोष, दुकान खोलने को लेकर हो रहे विरोध को सुलझाने पहुुंचे थे प्रभारी

11 नंबर बस स्टाप के नजदीक दरबार लगाकर बैठे टीआई सत्य पी सक्सेना। यहां उन्होंने सिंधी समाज को लेकर विवादित टिप्पणी कर दी थी।

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh Crime) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime) के हबीबगंज थाना प्रभारी विवादों में घिर गए हैं। थाना प्रभारी पर आरोप है कि उन्होंने सिंधी समाज (Sindhi Samaj) को लेकर विवादित टिप्पणी की है। हालांकि थाना प्रभारी ने इन आरोपों से किनारा कर लिया है। जबकि पीड़ित परिवार का दावा है कि ऐसा उन्होंने राजनीतिक दबाव के चलते किया है। घटना एक सप्ताह पुरानी है। लेकिन, अब यह मामला भाजपा (Bhopal BJP) के पास भी पहुंच गया हैं।

जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश (#Madhya Pradesh Crime) की राजधानी भोपाल (#Bhopal Crime) के हबीबगंज थाना क्षेत्र की है। इस थाने के प्रभारी सत्य पी सक्सेना (TI Satya P Saxena) हैं। उन्हें 11 नंबर बस स्टाप के नजदीक लोगों ने शिकायत की थी कि इलाके में एक दुकान रात 11 बजे तक खुलती है। थाना प्रभारी अपने स्टाफ के साथ वहां न्याय करने पहुंचे। उन्होंने दरबार लगाया जिसमें दुकान चलाने वाले संचालक को भी बुलाया गया। दुकान सिंधी परिवार की है जिसको रमेश कुमार देवनानी और सपना देवनानी चलाते हैं। दंपत्ति किराना दुकान चलाते हैं। दोनों को बुलाकर थाना प्रभारी ने काफी खरी खोटी सुनाई। उन्होंने सिंधी समाज को लेकर विवादित टिप्पणी भी की।
नीचे देखिए पूरा वीडियो

YouTube video

इस मामले में देवनानी परिवार का कहना है कि इलाके में जुआ—सट्टा और गांजा खुलेआम बिकता और चलता है। यह रोकना छोड़कर टीआई हमारी दुकान को टारगेट कर रहे हैं। परिवार ने इसको राजनीतिक कार्यकर्ताओं के इशारे पर की गई कार्रवाई बताया है। इधर, थाना प्रभारी का कहना है कि मुझे ऐसा याद नहीं हैं कि मैंने कुछ कहा हो। उधर, भाजपा नेता दुर्गेश केसवानी ने कहा कि सरकार बनाने के लिए कांग्रेस नेता सिंधी समाज के चौखट पर जाकर गिड़गिड़ाते थे।

यह भी पढ़ें:   Negligence in duty : वीआईपी मूवमेंट से खीेजे कांस्टेबल ने वायरलैस पर दी गाली, सुनकर डीआईजी भी हो गए हैरान

यह भी पढ़ें- Video में कांस्टेबल से सुनिए…टीआई साहब के लिए कर रहे वसूली

अब वोट मिल जाने के बाद हमारे समाज को टारगेट किया जा रहा है। इस मामले को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से शिकायत करने की बात की है। उन्होंने बताया कि समाज के माध्यम से मुझे भी वीडियो देखने को मिला है। इसमें टीआई साफ—साफ जाति को लेकर टिप्पणी करते हुए दिखाई दे रहे हैं। ऐसा करके उन्होंने भारत के संवैधानिक अधिकारों पर हमला किया है। इसका हम पुरजोर विरोध करते हैं।

Don`t copy text!