Bhopal News: एनआरआई कॉलेज की रजिस्ट्रार समेत तीन ने फांसी लगाई

Share

Bhopal News: भूत लगने का था परिवार को शक, इधर ट्रांसपोर्ट कारोबारी फांसी पर लटका

Bhopal News
सांकेतिक चित्र

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज (Bhopal News) ज्यादा अच्छी नहीं हैं। यहां चौबीस घंटों के भीतर तीन व्यक्तियों ने फांसी लगाई है। इसमें एनआरआई कॉलेज की रजिस्ट्रार भी हैं। इसके अलावा एक ट्रांसपोर्ट कारोबारी फांसी के फंदे पर लटका मिला है। जबकि एक नाबालिग जिसको पिछले दिनों भूत लग गया था उसकी जहर खाने से मौत हो गई। इन तीन मामलों में से दो घटनाओं की वजह लगभग साफ है। तीसरे मामले में अभी सस्पेंस बरकरार है।

चार साल से चल रहा था इलाज

बिलखिरिया थाना पुलिस के अनुसार मूलत: महाराष्ट्र निवासी ज्योत्सना सिंह (38) पटेल नगर में रहती थी वे एक एनआरआई कॉलेज में रजिस्ट्रार थीं। उनके पति बलराम सिंह भी उसी कालेज में नौकरी करते हैं। दोनों की शादी लगभग 17 साल पहले हुई थी। उनका पंद्रह साल का एक बेटा भी है। शनिवार दोपहर करीब तीन बजे ज्योत्सना सिंह (Jyotsna Singh) घर में फांसी लगा ली। उन्हें फंदे से उतारकर अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां से हमीदिया रैफर कर दिया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मायके वालों की मौजूदगी में रविवार को पीएम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। पूछताछ में पता चला है कि ज्योत्सना माइग्रेन की बीमारी से परेशान थी। उनके सिर में अक्सर दर्द बना रहता था।

साया लगने पर कराया इलाज

Bhopal News
सांकेतिक चित्र

इसी तरह बिलखिरिया में रूबी ठाकुर पुत्री मिश्रीलाल (18) ग्राम बालमपुर ने फांसी लगा ली। पिता ने पुलिस को बताया कि रूबी ठाकुर (Ruby Thakur) आठवीं कक्षा तक पढ़ी थी। पंद्रह दिन पहले उसकी तबीयत बिगड़ी और वह बड़बड़ाने लगी। उन्हें लगा कि उसे किसी साये ने घेर लिया है। परिजन उसे एक दरबार में ले गए थे। जहां झाड़फूंक के बाद उसे आराम लग गया था। उसके बाद ज्यादा किसी से बात नहीं करती थी। शुक्रवार को रूबी ने घर में रखा कीटनाशक पी लिया। उसकी तबीयत बिगड़ने पर उसे नागपुर अस्पताल ले गए। जहां शनिवार सुबह उसने दम तोड़ दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें:   दमोह में भाजपा चुनाव हारी!

यह भी पढ़िए: कोरोना महामारी में सरकार जनता को जवाबदार बनाकर अपनी जिम्मेदारियों से बच रही है, जानिए कैसे

ट्रांसपोर्ट कारोबारी ने फांसी लगाई

Bhopal News
सांकेतिक चित्र

तलैया में महेश बाथम (40) ने फांसी लगा ली। वह पुरानी गैस अदालत के पास फतेहगढ़ में रहते थे। उनका ट्रांसपोर्ट का कारोबार था। महेश बाथम (Mahesh Batham) ने साड़ी का फंदा बनाकर फांसी पर लटके थे। उन्हें तत्काल ही इलाज के लिए हमीदिया ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने चेक करने के बाद मृत घोषित कर दिया। पुलिस का कहना है कि अभी सुसाइड नोट नहीं मिला है। पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद जांच के बिंदु तय किए जाएंगे। परिवार शोकाकुल होने की वजह से पूछताछ भी नहीं हो सकी है।

Don`t copy text!