Bhopal Mobile Stolen: पुलिस के हत्थे लगा सेल्फी वाला चोर

Share

Bhopal Mobile Stolen: तस्वीर मिलने के बावजूद पकड़ने में छह महीने लग गए

Bhopal Mobile Stolen Case
यह है वह सैल्फी जो मोबाइल चोरी होने के बाद पीड़ित परिवार के रिश्तेदार के पास पहुंची थीं

भोपाल। चोर ने ट्रेन से मोबाइल (Bhopal Mobile Stolen) चुराया। फिर उससे अपनी एक शानदार सेल्फी ली। इस सेल्फी को उसने जिस व्यक्ति का मोबाइल था उसके रिश्तेदार को भेज दिया। यह घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। चोर ने जिस व्यक्ति को निशाना बनाया वे पेशे से वकील थे। उन्होंने भी मोबाइल पाने के लिए थाने से लेकर पुलिस के हर आला अधिकारी की चौखट पर फरियाद लगाई। नतीजा उन्हें मिला लेकिन इस कवायद में छह महीने लग गए।

फासला तय करने में इतना वक्त

घटना की रिपोर्ट भोपाल जीआरपी में 12 फरवरी, 2020 को दर्ज (GRP Bhopal Theft) हुई थी। इस मामले का आरोपी तलैया थाना क्षेत्र के इतवारा इलाके में रहता है। गिरफ्तार आरोपी सोमपाल कुचबुंदिया (Sompal Kuchbundiya) पिता मंशाराम उम्र 30 साल है। सोमपाल कुचबुंदिया इतवारा स्थित तिलक मार्केट के नजदीक रहता है। वह पुराने कपड़े बेचने का काम करना बताता है। उसको दो दिन पहले मोबाइल कॉल रिकॉर्ड के आधार पर गिरफ्तार (Selfie Wala Chor) किया गया है। उसने चोरी किया हुआ मोबाइल राजेश चौबे (Rajesh Choube) को बेचा था। पुलिस ने राजेश चौबे को भी आरोपी बनाया है।

यह था मामला

इस मामले की शिकायत अवधपुरी थाना क्षेत्र के वल्लभ नगर में रहने वाले सच्चिदानंद पटेल (Sachhidand Patel) ने दर्ज कराई थी। मोबाइल रेडमी नोट—3 कंपनी का था। पटेल घटना वाले दिन लेखक संघ की बैठक में भाग लेने ग्वालियर जा रहे थे। घटना 6 फरवरी की रात को हुई थी। वे जबलपुर—निजामुद्दीन एक्सप्रेस से यात्रा कर रहे थे। उनका (Advocate SN Patel) बर्थ एस—4 कोच में 63 नंबर था। भोपाल स्टेशन (Bhopal Railway Station) पर जब वे पहुंचे तो बर्थ में सोने के लिए वे कंबल बिछा रहे थे। ऐसा करने से पहले उन्होंने अपना मोबाइल निकालकर बर्थ में रख दिया था। वह मोबाइल कुछ देर बाद गायब मिला।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Theft Case: कृषि अनुसंधान कर्मचारी के मकान में चोरों का धावा

पुलिस को दिया था फोटो

सच्चिदानंद (Advocate Mobile Stolen Case) ने घटना की सूचना टीसी को दी। टीसी ने सलाह दिया कि वह 138 नंबर पर सूचना दें। उनके पास मोबाइल नहीं था। इसलिए पड़ोसी के मोबाइल से नंबर लगाया। लेकिन, उस नंबर पर आधी रात को कोई रिस्पांस नहीं मिला। तब तक वे ग्वालियर स्टेशन (Gwalior Station) पर पहुंच गए थे। यहां से उन्होंने बेटे शोभित (Shobhit Patel) को घटना की जानकारी दी। बेटे ने ट्वीटर पर इसकी शिकायत दर्ज कराई। सच्चिदानंद दिल्ली से लौटकर भोपाल जीआरपी थाने पहुंचे और उन्होंने चोरी का मुकदमा (Bhopal Stolen Case) दर्ज कराया।

यह भी पढ़ें: पिता—पुत्र की एक साथ फंदे पर लटकी मिली लाश, हर कोई मौत को लेकर हो रहा है हैरान

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!