Fake Marriage: दूल्हा बारात लेकर आया, दुल्हन पूरे परिवार के साथ गायब

Share

ठगने का अहसास होने पर थाने पहुंचा दूल्हे का परिवार, दोनों परिवारों के कार्ड पुलिस को सौंपे

Fake Marriage
सांकेतिक तस्वीर

भोपाल। मध्यप्रदेश (#Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (#Bhopal) में फर्जी शादी (Fake Marriage) का एक विचित्र (Shocked News) मामला सामने आया है। यहां नरसिंहपुर (Narsinghpur) से दूल्हा बारात लेकर भोपाल (@Bhopal) आया। लेकिन, न उसे दुल्हन मिली और न उसका परिवार। ठगे (Bhopal Cheating Case) जाने का अहसास होने पर परिवार ऐशबाग थाने पहुंचा। पुलिस मामले की पड़ताल करके वास्तविकता का पता लगा रही है।

जानकारी के अनुसार यह शादी 5 दिसंबर को होना थी। लेकिन, जब बारात आई तो दुल्हन, उसके पिता से लेकर उस व्यक्ति का भी मोबाइल बंद हो गया जिसने रिश्ता तय कराया था। दुल्हन के दूसरे परिवारों का दावा है कि उनके यहां किसी का निधन हो गया है। इसलिए शादी स्थगित कर दी गई है। हालांकि यह बात बताने के लिए दुल्हन का कोई सदस्य सामने नहीं आया। दूल्हे के परिवार को लगता है कि परिवार के साथ ठगी (MP Cheating Case) की वारदात हुई है। इसलिए मामले की शिकायत ऐशबाग थाने में की गई है। पुलिस वास्तविक कारणों की पड़ताल के लिए दूल्हे की तरफ से मुहैया कराए गए फोन नंबर से दुल्हन के परिवार को तलाश रही है।

मामले की शिकायत गाडरवारा (Gadarvara) में रहने वाले शिवनारायण शर्मा (Shivnarayan Sharma) ने पुलिस से की है। उन्होंने पुलिस को बताया है कि बेटे रूपेश (Rupesh Sharma) की शादी रागिनी (Ragini Sharma) से तय की थी। कार्यक्रम भोपाल ($Bhopal) के अवधपुरी थाना क्षेत्र के सी—सेक्टर में होना था। लड़की का परिवार ऐशबाग के महामाई का बाग इलाके में रहता है। परिवार बारात (Looteri Dulhan) लेकर अवधपुरी पहुंचा तो वहां शादी के कोई भी इंतजाम नजर नहीं आए। फोन लगाने पर सारे सदस्यों के फोन बंद थे। फिर महामाई का बाग में जाकर दुल्हन के परिवार को तलाशा गया। वहां भी ताला लगा था। अब दूल्हे के परिवार के सामने सम्मान का संकट आ गया था। दूसरे रिश्तेदारों को तलाशा गया तो उन्होंने किसी के देहांत होने की जानकारी दी। हालांकि जिस व्यक्ति का देहांत हुआ उसका ब्यौरा नहीं दिया गया।

यह भी पढ़ें:   MP Honey Trap Case: नेताओं, अफसरों के बाद अब व्यापारी भी फंसे

यह भी पढ़ें: लाइनमैन अस्पताल में भर्ती बिजली के पोल पर चढ़ा दिया ठेका श्रमिक फिर क्या हुआ जानिए

पैसा लेकर भागे
ममेरे भाई रमाकांत शुक्ला (Ramakant Shukla) ने बताया कि दूल्हे के परिवार की ओर से चार—पांच तोला वजनी सोने की चूड़ी, अंगूठी और चांदी की पायल दी थी। कैंटरिंग का आधा खर्च उठाने की बात भी तय हुई थी। इसके लिए 11 नवंबर को जब कार्ड दिए गए थे उस दिन 2 लाख रुपए एडवांस में दिए गए थे। ऐशबाग थाना प्रभारी अजय नायर ने बताया कि मामले की शिकायत थाने में आई है। पुलिस प्रकरण की जांच कर रही है। दुल्हन और उसके परिवार को तलाशा जा रहा है।

Don`t copy text!