Media Celebrity News: एमपी में पत्रकारिता के ‘ज्ञानपुंज’ का अवसान

Share

Media Celebrity News: चार दशक से राजनीतिक समीक्षाओं और पुस्तकों की वजह से बनाई अपनी पहचान

Media Celebrity News
दिवंगत वरिष्ठ पत्रकार शिवअनुराग पटैरिया

भोपाल। अविभाजित मध्य प्रदेश हो या फिर विभाजन के बाद वाला प्रदेश। भूत और वर्तमान दोनों में दमदार पकड़ थी। राजनीतिक उठापटक हो या भौगोलिक ज्ञान। सारे विषयों के हरफनमौला (Media Celebrity News) वरिष्ठ पत्रकार शिवअनुराग पटैरिया का बुधवार सुबह अवसान हो गया। वे कोरोना महामारी के चलते पिछले कई दिनों से इंदौर के बाम्बे अस्पताल में भर्ती थे। निधन के समाचार पर एमपी में पूरा पत्रकारिता जगत शोक संतप्त हो गया। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत कई नेताओं ने पटैरिया के निधन पर शोक जताया है।

छतरपुर से की थी शुरुआत

शिवअनुराग पटैरिया का आक्सीजन लेवल बहुत कम हो गया था। इसी दौरान उन्हें दिल का दौरा भी आया। अस्सी के दशक में हुए छतरपुर कांड में नायक की भूमिका निभाने के साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में वे चार दशकों से कार्यरत थे। उन्होंने आंचलिक पत्रकार के तौर पर 1978 में छतरपुर से पत्रकारिता की शुरुआत की। तीन दशक से ज्यादा समय से वो मीडिया में सक्रिय थे। न्यूज चैनल के डिबेट्स में भी वो काफी हिस्सा लेते थे। इस दौरान नईदुनिया (इंदौर), जनसत्ता (मुंबई), चौथा संसार (भोपाल), आई.टी.वी., संडेमेल, जन्मभूमि, दैनिक नईदुनिया (भोपाल), में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य। इतने साल में वो प्रदेश के हस्ताक्षर बनकर उभरे। वे प्रतिष्ठित माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता पुरस्कार से सम्मानित थे। उन्हें राजेन्द्र माथुर फैलोशिप, मेदिनी पुरस्कार, डॉ. शंकरदयाल शर्मा अवार्ड और स्वर्गीय सत्यनारायण तिवारी लाइफ टाइम अचीवमेंट जैसे कई पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

यह भी पढ़ें:   एम्बुलेंस की आड में तस्करी

संवेदनाओं की लगी झड़ी

62 वर्षीय पटैरिया के निधन पर गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा, भाजपा मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने शोक व्यक्त करते हुए उनके प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की है। सभी नेताओं ने पटैरिया के परिजनों को यह गहन दुख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना भी की है। वरिष्ठ पत्रकार आरिफ मिर्जा, अनुराग उपाध्याय, विकास तिवारी, केडी शर्मा, राजेन्द्र पाराशर, धर्मेन्द्र पैगवार, मुकेश मिश्रा, योगेंद्र चंदेल समेत कई अन्य वरिष्ठ और जूनियर पत्रकारों ने याद करके श्रद्धासुमन व्यक्त किए हैं। दरअसल, आपने माखनलाल यूनिवर्सिटी में कई युवा पीढ़ी को भी तराशकर दिल्ली, मुंबई जैसे दूसरे महानगरों में पत्रकार पहुंचाए हैं। अंत्येष्टि भोपाल भदभदा विश्राम घाट में हुई। मुखाग्नि बेटे प्रखर ने दी। स्वर्गीय पटैरिया के परिवार में पत्नी सुजाता, बेटी नेहा और बेटा प्रखर है।

Don`t copy text!