अनोखी Love Marriage, घर वाले नहीं थे राजी, पुलिस ने थाने में कराई शादी

Share

बाराती बनी थाना पुलिस, थाने में लिए गए फेरे, पंडित से लेकर मंडप तक के पुलिस ने किए इंतजाम

Love Marriage
खरगोन के कोतवाली थाने में टीआई ललित सिंह डांगुर से शादी के बाद आर्शीवाद लेने पहुंचे प्रेमी युग्ल

खरगोन। देश में इस वक्त पुलिस बिलकुल सिंघम (Singham) फिल्म की तर्ज पर काम कर रही है। इस फिल्म के मुख्य अभिनेता अजय देवंगन (Ajay Devangan) जिनके पात्र बाजीराव सिंघम (Bajirao Singham) थे। वे शादी भी कराते थे और लड़की से बदसलूकी करने वालों को सबक भी सिखाते थे। शुक्रवार को हैदराबाद की पुलिस एनकाउंटर (Hyderabad Rapist Encounter) के बाद लोगों की नजर में बिलकुल सिंघम की तरह नजर आ रही थी। इधर, इसी सिंघम पुलिस का दूसरा चेहरा मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh Crime) से सामने आया हैं। यहां खरगोन (Khargone) जिले के कोतवाली थाना पुलिस ने ऐसा सामाजिक काम (Love Marriage) किया है जिसकी वजह से वह सुर्खियों में हैं। दरअसल, खरगोन (#Khargone Crime) पुलिस ने बकायदा थाना परिसर में ही मंडप लगाकर शादी कराई। यह कैसे हुआ और क्यों हुआ इसकी रोचक कहानी है।

Love Marriage
कोतवाली थाना परिसर में स्थित शिव मंदिर में शादी की रस्म निभाते हुए पुलिसकर्मी

मध्यप्रदेश (#Madhya Pradesh Crime) के खरगोन (#Khargone Crime) जिले के कोतवाली थाना प्रभारी ललित सिंह डांगुर (Lalit Singh Dangur) ने बताया कि पारिवारिक विवाद के चलते प्रेमी और उसकी प्रेमिकाव पुलिस से मदद मांगने आए थे। पुलिस के सामने धर्म संकट था। उन्होंने प्रेमी—प्रेमिका को समझाने की कोशिश की। इसके लिए बकायदा काउसलिंग कराई गई। फिर भी दोनों परिवार की मर्जी से शादी करने के लिए तैयार नहीं हुए। पुलिस ने इस मामले का हल निकाला और थाना परिसर में ही शिव मंदिर में दोनों की शादी (#Love Marriage) करा दी। इसके ​लिए बकायदा पंडित से लेकर मंडप की व्यवस्था कराई गई। बाराती के रूप में कोतवाली थाने का स्टाफ वहां लगा रहा। दोनों प्रेमी युग्ल खरगोन कोतवाली में घोट्या गांव का रहने वाला है।

यह भी पढ़ें:   वर्दी और खादी की मदद से चल रहा था अड्डा

यह भी पढ़ें: सिपाही वीडियो में रिश्वत लेते हुए कैद तो हुआ और उसने टीआई का राज भी उजागर कर दिया

पुलिस ने बताया कि पाटीदार समाज के प्रेमी युगल के परिवारों के बीच पिछले डेढ़ साल से विवाद चल रहा था। इस कहानी में पुलिस को खतरा था कि कहीं इस रंजिश की वजह से प्रेमी अथवा प्रेमिका की हत्या न हो जाए। शादी के बाद दोनों प्रेमी जोड़ों ने पुलिस को धन्यवाद दिया। प्रदेश में हालांकि यह पहला मामला नहीं हैं। इससे पहले भी कई मामलों में शिकायत का निपटारा पुलिस ने शादी कराकर समाप्त कराया है।

Don`t copy text!