जेल गया कालिख पोतने वाला, हड़ताल पर गए अधिकारी

Share

चौरई एसडीएम के मुंह पर कालिख पोतने का मामला गरमाया, देखें घटना का वीडियो

SDM CP Patel
एसडीएम के मुंह पर कालिख पोतते हुए बंटी पटेल

भोपाल। छिंदवाड़ा (Chhindwara) के चौरई में एसडीएम (Chourai SDM) सीपी पटेल (SDM CP Patel) के मुंह पर कालिख पोतने का मामला गरमा गया है। घटना के विरोध में राज्य प्रशासनिक सेवा संघ ने घटना की निंदा करते हुए अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरु कर दी है। शनिवार को राजधानी भोपाल में संघ ने प्रेस वार्ता कर हड़ताल का ऐलान किया। साथ में राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों से भी आव्हान किया कि वें भी हड़ताल में शामिल हो जाएं। पटवारी संघ, राजस्व निरीक्षक संघ, तहसीलदार संघ एवं तमाम अधिकारी-कर्मचारी संघों से हड़ताल पर जाने का आव्हान किया गया है। अधिकारी-कर्मचारियों की ये नाराजगी सरकार की बजाए कांग्रेस पर ज्यादा भारी पड़ेगी।

कांग्रेस नेता बंटी पटेल ने पोती कालिख

शुक्रवार को कांग्रेस कार्यकर्ता चौरई में प्रदर्शन कर रहे थे। कांग्रेस के पूर्व विधायक चौधरी गंभीर सिंह और कांग्रेस नेता बंटी पटेल (Banti Patel) ने किसानों की मांगों को लेकर एसडीएम कार्यालय का घेराव किया था। बाढ़ पीड़ित किसानों को मुआवजा देने की मांग को लेकर कांग्रेस नेताओं और प्रशासन के बीच बातचीत के दौरान ही बंटी पटेल ने घटना को अंजाम दिया। बंटी पटेल ने हाथ में काली स्याही लेकर एसडीएम सीपी पटेल के मुंह पर पोत दी। इस घटना के बाद अधिकारी कर्मचारियों में भारी नाराजगी है। घटना का वीडियो भी सामने आ गया है। जिसमें बंटी पटेल का करतूत साफ तौर पर दिखाई दे रही है।

यात्रा का समापन था

बाढ़ प्रभावित किसानो को मुआवजा दिए जाने की मांग को लेकर पूर्व विधायक चौधरी गंभीर सिंह और बंटी पटेल ने 200 किलोमीटर लंबी पदयात्रा निकाली थी। 8 दिन में 61 गांव का दौरा किया था। इसी यात्रा का समापन शुक्रवार को चौरई में हो रहा था। इसी दौरान घटना सामने आई।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Road Mishap:दुर्घटना में बाइक सवार की मौत, गुस्साई भीड़ ने किया हंगामा

आरोपी के खिलाफ 11 धाराओं में दर्ज हुआ केस

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बंटी पटेल को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके खिलाफ हत्या के प्रयास समेत 11 धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पटेल के खिलाफ एनएसए के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। बंटी पटेल को जेल भी भेज दिया गया है। लेकिन अधिकारी-कर्मचारियों का गुस्सा शांत नहीं हुआ। लिहाजा शनिवार को भोपाल में प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया।

कांग्रेस पर भारी पड़ेगी नाराजगी !

छिंदवाड़ा के चौरई की ये घटना और अधिकारी-कर्मचारियों का गुस्सा कांग्रेस पर भारी पड़ सकता है। आगामी उपचुनाव में कांग्रेस का इसके परिणाम भुगतने पड़ सकते है। वहीं सोमवार से इस हड़ताल का सरकारी कामकाज पर असर दिखना भी शुरु हो जाएगा। राज्य प्रशासनिक सेवा संघ के आव्हान पर अन्य कर्मचारी संघ भी साथ आए तो सरकारी कामकाज पूरी तरह ठप्प हो जाएगा।

देखें वीडियो

ये गुंडागर्दी नहीं चलेगी- भाजपा

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को धरना-प्रदर्शन करने का अधिकारी है, लेकिन गुंडागर्दी करने का नहीं। छिंदवाड़ा में कमलनाथ जी के पाले हुए गुंडों ने निंदनीय घटना को अंजाम दिया है। इस घटना पर कानून अपना काम कर रहा है। लेकिन कांग्रेस ने अब तक बंटी पटेल को पार्टी से निष्कासित नहीं किया है।

घटना की जांच कराएंगे- कांग्रेस

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा का कहना है कि घटना की जांच कराई जाएगी। घटना किन परिस्थितियों में घटित हुई ये जांच के विषय है। अधिकारियों से आम जनता परेशान है। बंटी पटेल के निष्कासन के सवाल पर नरेंद्र सलूजा ने कहा कि उन्हें पार्टी से नहीं निकाला जाएगा।

यह भी पढ़ें:   MP : मंत्रियों को बांटे गए विभाग, भाजपा विधायक का तंज- इस हाथ दे, उस हाथ ले का उदाहरण

यह भी पढ़ेंः मंत्री इमरती देवी ने बताया चुनाव का गणित, भाजपा को 8 सीटें चाहिए, इतनी तो कलेक्टर जितवा देंगे, देखें वीडियो

 

Don`t copy text!