Bhopal Brutal Murder Case: अप्राकृतिक कृत्य के बाद बालक की गला दबाकर की थी हत्या

Share

मुख्य आरोपी समेत तीन लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, नगर निगम के दैनिक वेतन वाले कर्मचारी

Bhopal Brutal Murder
शाहजहांनाबाद थाने में गिरफ्तार तीन आरोपी जिन्होंने 10 साल के बच्चे की निर्मम तरीके से हत्या की

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) बालक के साथ अप्राकृतिक कृत्य (Bhopal Unnatural Sex And Murder Case) हुआ था। यह रिपोर्ट मिलने के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी को दबोच लिया। आरोपी ने अपना राज खुलने के डर से उसकी गला दबाकर हत्या (Bhopal Brutal Murder Case) की थी। मामला मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) के शाहजहांनाबाद इलाके का है। मासूम के साथ यौनाचार फिर हत्या के मामले में पुलिस ने धारा बढ़ा दी है। इससे पहले पुलिस ने अपहरण की धारा में मुकदमा दर्ज किया था।
यह भी पढ़ें: एकतरफा इश्क का भूत ऐसा हुआ सवार कि पति की चाकू से गोदकर कर दी निर्मम हत्या

जानकारी के अनुसार शाहजहांनाबाद स्थित संजय नगर पहाड़िया इलाके से 10 वर्षीय बालक 20 फरवरी को लापता हो गया था। जिसकी रिपोर्ट चाचा ने दर्ज कराई थी। पिता नगर निगम में दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी हैं। बालक कक्षा चौथी का छात्र था। परिवार का आरोप है कि पुलिस ने शुरुआत से ही इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया। इसी बीच पुलिस को 28 फरवरी की दोपहर में नेवरी मंदिर के पास जंगलों में एक बालक की लाश मिली। जिसकी पहचान संजय नगर से गायब बालक के रुप में हुई। शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा गया। पीएम रिपोर्ट में सामने आया कि उसके साथ अप्राकृतिक कृत्य किया गया था। उसके बाद उसकी गला घोंटकर हत्या की गई थी। यह पता चलते ही पुलिस ने मामले में संदेही एक व्यक्ति को हिरासत में लिया। उसी व्यक्ति के घर पर आखिरी बार बालक पहुंचा था।
यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश की राजधानी के सरकारी हॉस्टल में मासूम बच्चे के साथ ऐसा होगा किसी को यकीन नहीं था
पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी नारियलखेड़ा स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी अरुण यादव (Arun Yadav) पिता अशोक यादव उम्र 26 साल हैं। अरुण भी नगर निगम में दैनिक वेतन भोगी है। इसलिए वह उसके परिवार को पहचानता है। उसने पूछताछ में बताया कि वह संजय नगर पहाड़िया में रहने वाले 19 वर्षीय गोपाल यादव (Gopal Yadav) के घर गया था। वह उसका रिश्तेदार भी है। उसके साथ 21 वर्षीय मट्टू उर्फ अमरदीप यादव (Amardeep Yadav) भी थे। तीनों रेलवे पटरी किनारे तालाब में बाइक से गए थे। वापसी में अरुण के साथ बालक रह गया था। अकेला पाकर आरोपी ने उसके साथ अप्राकृतिक कृत्य किया। नाबालिग ने उसका राज खोलने की धमकी दी तो वह डर गया। इस कारण उसने गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव झाड़ियों में फेंककर गायब हो गया। पुलिस ने इस मामले में अरुण समेत तीनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें:   MP Drug Racket: अफ्रीका भेजी जा रही ड्रग की खेप पकड़ाई

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!