Bhopal Property Fraud: रिटायर्ड एडीपीओ के साथ हुई जालसाजी 

Share

Bhopal Property Fraud: भोपाल नगर—निगम में बंधक फ्लैट को 13 लाख रुपये में बेचा, आरोपियों के खिलाफ पहले से दर्ज है कई मुकदमे

Bhopal Property Fraud
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। सेवानिवृत्त जिला अभियोजन अधिकारी जालसाजी के शिकार हो गए। उन्हें भोपाल नगर निगम में बंधक फ्लैट 13 लाख रुपए में बेच दिया गया। यह घटना भोपाल (Bhopal Property Fraud) शहर के निशातपुरा थाना क्षेत्र की है। जिसमें पुलिस ने जालसाजी का प्रकरण दर्ज कर लिया है। इस मामले में जिनके खिलाफ प्रकरण दर्ज हुआ है वह पहले भी गिरफ्तार हो चुके हैं।

ऐसे बने जालसाजी के शिकार

निशातपुरा (Nishatpura) थाना पुलिस के अनुसार मामले की जांच एएसआई राजेंद्र सोलंकी (ASI Rajendra Solanki) ने की थी। शिकायत राजगढ़ जिले के ब्यावरा निवासी महेश श्रीवास्तव (Mahesh Shrivastav) ने दर्ज कराई थी। वे सेवानिवृत्त अभियोजन अधिकारी हैं। उन्होंने 05 अक्टूबर 2014 को निशातपुरा थाना क्षेत्र स्थित सागर गिरी (Sagar Giri) के पीछे स्थित प्रियांशी हाइट्स (Priyanshi Heights) में फ्लैट बुक किया था। इसकी बुकिंग राशि 21 अक्टूबर, 2014 को 51 हजार रुपए के रूप में रवि शर्मा (Ravi Sharma) को दी थी। उसी समय उक्त प्लाट का अनुबंध भी कर लिया गया। जबकि वह फ्लैट भोपाल नगर निगम (Bhopal Nagar Nigam) में बंधक था। आरोपी रवि शर्मा मिसरोद स्थित डी मार्ट (D-Mart) के पास रहते थे। पीड़ित ने 17 फरवरी, 2015 को पांच लाख फिर 01 सिंतबर, 2015 को 5 लाख रुपए दे दिए। रकम लेने के बाद उसी महीने सितंबर, 2015 में रवि शर्मा की मौत हो गई। उनकी मौत के बाद संपत्ति की मालिक उसकी पत्नी वैशाली शर्मा (Vaishali Sharma) हो गई। परिजनों ने रवि शर्मा की मौत के बाद उसकी शादी देवर राहुल शर्मा (Rahul Sharma) के साथ कर दी। उसने वैशाली शर्मा के नाम पर मौजूद सभी संपत्ति पर निगरानी करने लगा। जब वैशाली शर्मा से संपर्क किया गया तो उसने पजेशन देने का वादा किया। जिसके बाद महेश श्रीवास्तव ने वैशाली शर्मा को नगद रकम उसके खाते में ट्रांसफर कर दी। लेकिन, वैशाली शर्मा ने उसे कई महीनों तक फ्लैट नहीं दिया। जिस कारण थाने में उन्होंने शिकायत की। पुलिस ने 612/24 धारा 420/34 (जालसाजी और एक से अधिक आरोपी का प्रकरण) दर्ज कर लिया। यह प्रकरण पुलिस ने 28 जून की रात लगभग आठ बजे दर्ज किया। वैशाली शर्मा के खिलाफ थाना निशातपुरा में पहले से धोखाधड़ी के मामले पहले से दर्ज है। पुलिस ने इस मामले में उसके अलावा राहुल शर्मा को भी आरोपी बनाया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Property Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   फरार टैंकर जोड़ रहा था जेवरात
Don`t copy text!