MP Cop Gossip: बिल्डर के लिए कागज के किए इंतजाम

Share

MP Cop Gossip: मां—बेटे के खिलाफ दर्ज है एफआईआर, समाज सेवा या सिफारिश पर सस्पेंस

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। मध्यप्रदेश पुलिस विभाग (MP Cop Gossip) की वह खबरें जो समाचार नहीं बनी। लेकिन, भीतर ही भीतर महकमे में वह चर्चा का विषय बनी रहे। हमारा मकसद किसी को बड़ा—छोटा या कमतर आंकना नहीं। बल्कि इस बात का अहसास कराना है कि हमें भी खबर है। इसलिए बाखबर न होकर कोई गलत न हो जाए।

डीआईजी को देनी पड़ी सफाई

पिछले दिनों दुर्गोत्सव को लेकर हुई कार्रवाई के बाद एक वर्ग नाराज हो गया। आरोप था कि पुलिस महकमा पंडालों के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है। विवाद बढ़ता देखकर डीआईजी ने ब​कायदा सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर ट्वीट करके सफाई दी। पुलिस की तरफ से कहा गया कि किसी भी झांकी अथवा पंडाल के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई। बल्कि उनके खिलाफ कार्रवाई की गई जो मेला अथवा झूला लगाकर जबरिया भीड़ जमा कर रहे थे। ऐसे कार्रवाई की संख्या तीन बताई गई थी।

थानों के लिए कम पड़ रही जगहें

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

शहर के मिसरोद, अवधपुरी, टीटी नगर, छोला मंदिर, गौतम नगर समेत कई थाने सड़क पर पड़ते है। इन थानों में स्थान की काफी कमी होती है। इसलिए जब्ती के वाहनों को भी सड़क पर रखना पड़ता है। अब इस कमी से एमपी नगर थाना भी जूझ रहा है। यहां सड़क चौडी करने के लिए बुलडोजर चला दिया गया है। इसका असर एसपी कार्यालय में भी पड़ने लगा है। जिसको लेकर अफसर चिंता जताने लगे हैं।

मेहरबानी के कारण पर शोध जारी

कुछ महीने पहले एक बिल्डर के परिवार के खिलाफ जालसाजी का मुकदमा दर्ज हुआ था। यह मुकदमा जहां दर्ज हुआ उसके पास से ही दूसरा जिला भी लग जाता है। खबर है कि इस प्रकरण की डायरी में पिछले दिनों कुछ दस्तावेज जोड़े गए है। जिसका फायदा बिल्डर को मिलेगा। ऐसा करने के लिए बिल्डर ने काफी पापड़े बेले थे। अब लोग एक कान से दूसरे कान में बोलने लगे है। आखिर इस दरियादिली के पीछे घी के दीपक तो जले ही होंगे। पता यह लगाया जा रहा है कि यह किस दरवाजे में जलाए गए।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: एनआरआई कॉलेज की रजिस्ट्रार समेत तीन ने फांसी लगाई

यह भी पढ़ें: भोपाल के इस बिल्डर पर सिस्टम का ‘रियायती सैल्यूट’, परेशान हो रहे 100 से अधिक परिवार

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Cop Gossip
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!