Bhopal News: बाली उम्र में तय कर लिया हमसफर

Share

Bhopal News: परीक्षा देने के लिए जिस घर में करती थी काम उसके मालिक ने खोली उसकी पोल, माता—पिता के साथ रहने को नहीं है तैयार पीड़ित बच्ची, पुलिस ने गौरवी से मांगी मदद

Bhopal News
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। बाली उम्र में एक नाबालिग ने अपना हमसफर चुन लिया। हालांकि यह अपराध है उसको पता नहीं था। घटना मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल सिटी (Bhopal News) के हबीबगंज थाना क्षेत्र की है। जिस घर में पीड़िता काम करती थी उसके मालिक ने परिजनों से उसकी पोल खोल दी थी। जिस डर से वह आरोपी के साथ घर से भाग गई थी। बच्ची के मिलने के बाद पूरा राज बेनकाब हुआ। पीड़िता अपने माता—पिता के साथ नहीं रहना चाहती है। इसलिए पुलिस ने गौरवी संस्था से मदद मांगी है।

ऐसे हो गई थी दोस्ती

हबीबगंज थाना पुलिस ने 20 फरवरी की दोपहर साढ़े बारह बजे 95/22 धारा 363 (नाबालिग को बहला—फुसला कर अगवा करने) का मामला दर्ज किया। शिकायत नाबालिग के पिता ने थाने में दर्ज कराई थी। उन्होंने पुलिस को बताया कि वह मूलत: खंडवा के रहने वाले है। कुछ समय पहले वह और उनकी पत्नी मन्नीपुरम में चौकीदारी करते थे। अचानक लॉक डाउन के कारण वह वापस खंडवा चले गए थे। लेकिन, उसकी 16 वर्षीय बेटी 10वीं कक्षा की पढ़ाई कर रही थी। वह परीक्षा देने के लिए ई—4 अरेरा कॉलोनी में उसकी रिश्तेदार के यहां रहने लगी। इसी बीच नाबालिग ने मन्नीपुरम में किसी बच्चे को संभालने का काम शुरु कर दिया। इसके बाद वह 10 नंबर मा​र्केट के नजदीक एक बंगले में काम करने लगी। इस दौरान उसकी दोस्ती ऋषि नगर निवासी विनोद रजक से हो गई थी। ​वह सब्जी व्यापारी के यहां नौकरी करता है। दोनों की फोन पर बातचीत होती थी। इसकी जानकारी जिस घर में नाबालिग काम करती थी। उसके मालिक को लग गई और उन्होंने लड़की के घर वालों को यह जानकारी दे दी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: दूसरी पत्नी ने बेटे के लिए हक मांगा तो पति ने ​पीटा

आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा

नाबालिग के पिता उसे वापस लेने के लिए आने वाले थे। यह बात जब पीड़िता को पता चली तो वह परिजनों से डर गई। इस कारण वह आरोपी के साथ भाग गई थी। दोनों 18 फरवरी को 10 नंबर मा​र्केंट में मिले और वहां से बच्ची उसके साथ चली गई। दोनों रात भर एक पार्क में बैठे रहे। दूसरे दिन मंदिर में जाकर शादी कर ली। इसके बाद आरोपी उसे उसके घर ले गया। यहां बच्ची के परिजन उसे खोजते रहे। घटना की जानकारी मिलते ही उसके पिता हबीबगंज थाने पहुंचे। थाने में उन्होंने पूरी घटना बताने के बाद शक के आधार पर पुलिस विनोद रजक (Vinod Rajak) के घर पहुंची। जहां बच्ची मिल गई। वहां से बच्ची और आरोपी को लेकर पुलिस थाने आई। पूछताछ में बच्ची उसके माता—पिता के साथ जाने को तैयार नहीं है। उसका कहना है दोनों ने शादी कर ली है। वह उसका पति है। बच्ची की काउंसलिंग के लिए उसे गौरवी संस्था में रखा गया है। इधर, आरोपी विनोद के खिलाफ पुलिस ने धारा 366/376/376—2—एन/5एल/6 (झांसा देकर अगवा करना, बलात्कार, कई बार बलात्कार और पोक्सो एक्ट) के तहत मामला दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें: पुलिस कमिश्नर प्रणाली में क्या इन रसूखदार बिल्डर के खिलाफ जिनकी दर्जनों शिकायतें थाने में धूल खा रही है उसमें कार्रवाई होगी।
खबर के लिए ऐसे जुड़े

Job Fraud Racket
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   MP Hindi News:  स्टेट पुलिस सर्विस एसोसिएशन को मांग के अनुसार नहीं मिली संख्या
Don`t copy text!