MP News: E-Tender की फाइल ठंडे बस्ते में, खुलासा करने वाले अफसर सीएम के सचिव

Share

इंदौर के बाद भोपाल जिले की प्रशासनिक सर्जरी की सुगबुगाहट

MP News
मुख्यमंत्री के सचिव मनीष रस्तोगी

भोपाल। (Madhya Pradesh News In Hindi) मध्य प्रदेश का बहुचर्चित घोटाला (E-Tender Scam) फिर सुर्खियों में हैं। दरअसल, इस मामले का खुलासा भारतीय प्रशासनिक सेवा के अफसर मनीष रस्तोगी (IAS Manish Rastogi) ने किया था। अब रस्तोगी को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) का सचिव बनाया जा रहा है। इधर, खबर है कि आर्थिक प्रकोष्ठ विंग (Economic Offense Wing) जिस तेजी से ई—टेंडर घोटाले (E-tender Ghotala) की जांच कर रहा था वह अब ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है।

जानकारी के अनुसार 1994 बैच के आईएएस मनीष रस्तोगी राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव थे। रस्तोगी जब राज्य इलेक्ट्रॉनिक विकास निगम के एमडी थे तब उन्होंने ई—टेंडर घोटाले के संबंध में राज्य सरकार से पत्राचार किया था। उस वक्त प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की सरकार थी। कमल नाथ (EX CM Kamal Nath) सरकार ने इस मामले में एक—एक करके तीन मामले दर्ज किए थे। इसमें कुल 51 टेंडरों को संदिग्ध पाया था। इस संबंध में रस्तोगी से भी ईओडब्ल्यू ने पूछताछ की थी। इस घोटाले की एफआईआर के बाद तीन डीजी बदले जा चुके हैं। जब एफआईआर हुई थी उस वक्त केएन तिवारी (IPS KN Tiwari) डीजी थे। उनके बाद सुशोभन बनर्जी (IPS Sushobhan Benrji) को डीजी बनाया गया। शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के कुछ दिन बाद ही बनर्जी की जगह राजीव टंडन (IPS Rajiv Tandan) को डीजी बनाया है।

अपील

देश वैश्विक महामारी से गुजर रहा है। हम भी समाज हित में स्पॉट रिपोर्टिंग करने से बच रहे हैं। इसलिए समाज और लोगों से अपील करते हैं कि यदि उनके पास भ्रष्टाचार, कालाबाजारी या जिम्मेदार अफसरों की तरफ से लापरवाही की कोई जानकारी या सूचना हैं तो वह मुहैया कराए। www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Cyber Crime: बाइक की तस्वीर ओएलएक्स पर पोस्ट कर फर्जीवाड़ा
Don`t copy text!