MP Police Gossip: कांस्टेबल भर्ती होना चाहता है लेकिन साहब है कि डिस्चार्ज करा रहे

Share

मध्य प्रदेश पुलिस महकमे के एक आला अधिकारी और कर्मचारी के बीच चल रहा जमकर घमासान

Madhya Pradesh Police Gossip
सांकेतिक चित्र

भोपाल। मध्य प्रदेश पुलिस महकमे के एक अफसर इन दिनों फिर सुर्खियों (Madhya Pradesh Police Gossip) में है। साहब मुंबई वाली नोटशीट (Mumbai Wali Notesheet) के कारण पहले ही सुर्खियों में रहे थे। इन अफसर के चर्चे पुलिस मुख्यालय के गलियारों में भी गूंजते रहते हैं। उनके खिलाफ मैदानी कर्मचारी कई बार लामबंद हो चुके हैं। साहब की दूसरी पहचान यह है कि वे कर्मचारियों को छुट्टी नहीं देते। ऐसे ही एक कर्मचारी बेहोश होकर जेपी अस्पताल (JP Hospital) में भर्ती हो गया। यह बात साहब को पता चली तो उन्होंने चिकित्सकों को उसको डिस्चार्ज करने का हुक्म सुना दिया। अफसर का कहना था कि वह बीमारी की आड़ में छुट्टी चाहता है। हालांकि साहब के सामने कर्मचारी की नहीं चली।

परिवहन अपर आयुक्त की रेस
मध्य प्रदेश में परिवहन विभाग को मलाईदार महकमा समझा जाता है। वहीं भोपाल डीआईजी की कुर्सी को भी काफी तवज्जो दी जाती है। खबर इन्हीं दो स्थानों की कुर्सी से जुड़ी है। खबर है कि परिवहन अपर आयुक्त और डीआईजी सिटी को लेकर नाम लगभग तय हो चुके है। यह दोनों अफसर भोपाल में एएसपी रहे हैं। एक अफसर राज्य पुलिस सेवा से आईपीएस बनने वाले हैं। उनका परिवहन उपायुक्त बनना तय माना जा रहा है। वहीं सीधे आईपीएस रहे एक अफसर डीआईजी बन सकते हैं। इन साहब को जिलों से जातिवाद के चलते हटाया गया था।
टीआई ने बदला पाला
जिले के एक थाना प्रभारी ने इन दिनों पाला बदल लिया है। पहले वे जिले के कप्तान के पाले में थे। अब वे रेंज के कप्तान के पाले में हैं। इसी पाला बदलने के कारण पिछले दिनों जुए के एक फड़ की जानकारी रेंज के कप्तान के पास पहुंच गई थी। उन्होंने थाना नहीं दूसरे विभाग की पुलिस से कह कर छापा पड़वाया था। इस छापे के बाद जिले में खबर देने वाले उनके खास सिपहसलार की तलाश की जा रही थी।
कुर्सी मिलती उससे पहले दुश्मन सक्रिय
नरसिंहपुर जिले के कप्तान को बदले जाने को लेकर जमकर हल्ला मचा हुआ है। यह हल्ला एक पखवाड़े पहले मच गया। लेकिन, जिस नाम को लेकर हल्ला मचा था वह हैरान होकर घुम रहे हैं। उनका कहना है कि जिला मिला नहीं उससे पहले नाम उछालकर उनके नाम का गणित बिगाड़ कौन रहा है। उनको यकीन है कि यह उनके दुश्मनों का ही किया हुआ है। वह उस व्यक्ति की भीतर ही भीतर सरगर्मी से तलाश कर रहे हैं।
खबर को शेयर करें
क्या आप द क्राइम इंफो से जुड़ना चाहते हैं! अब द क्राइम इंफो एप्प की शक्ल में आपके साथ रहेगा। यह संदेश पढ़ने तक एक मैसेज आपके पास आएगा। आप उसको अलाउ करें, फिर आपके और हमारे बीच की दूरियां कम होगी। यह एप्प आपके मोबाइल पर दिखाई देने लगेगा। बस क्लिक कीजिए और अपने आस—पास चल रही खबरों को तुरंत जानिए। www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है।
खबर के लिए ऐसे जुड़े
हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।
यह भी पढ़ें:   MP Youth Congress Election 2020 : कौन जीतेगा ‘अपनों’ के बीच छिड़ी जंग
Don`t copy text!