Bhopal Road Mishap: डंपर में फंसी बाइक, घिसटते हुए ले गया

Share

Bhopal Road Mishap: डंपर के नीचे दबकर पुरुष और महिला की दर्दनाक मौत, पुलिस की एफआईआर में हुई ऐसी चूक

Bhopal Road Mishap
डंपर के पिछले पहिए के नीचे चकनाचूर बाइक और शव

भोपाल। तेज रफ्तार डंपर ने दो लोगों को कुचल (Bhopal Road Mishap) दिया। हादसे में दोनों की मौके पर मौत हो गई। घटना मध्यप्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) के कोलार थाना क्षेत्र की है। बाइक पर तीन लोग सवार थे। हादसे (Bhopal Road Accident) में बाइक डंपर में फंस गई थी। जिसको उसका चालक काफी दूर तक घिसटते ले गया। पुलिस ने डंपर जब्त कर लिया है। पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज कर लिया है। लेकिन, उसमें चूक साफ—साफ नजर आ रही है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिए है।

जेके अस्पताल में करते थे नौकरी

कोलार थाना पुलिस ने बताया सुनील रामनिया पिता राम चरन उम्र 35 साल निवासी अवंती बाई स्कूल के पीछे बैरागढ़ चीचली का रहने वाला है। सुनील (Sunil Ramaniya) नगर निगम में सफाई कर्मचारी है। उसने पुलिस को बताया कि 22 सितंबर मंगलवार रात करीब 11:45 पर उसकी भाभी पिंकी बाई (Pinky Ramaniya) पति गोविंद रामनिया बाइक से जा रहे थे। दोनों कोलार स्थित जेके अस्पताल में सफाई कर्मचारी है। नाइट ड्यूटी होने के कारण वे काम पर जा रहे थे। घटना की जानकारी उसकी भाभी पिंकी की मदद से देवर सुनील को पता चली थी।

बुरी तरह से सड़क पर बिखरे थे शव

Bhopal Road Mishap
मौके पर जमा भीड़

पिंकी ने बताया जैसे ही वह तीनों डी मार्ट के सामने पहुंचे पीछे से आए तेज रफतार डंपर वाले ने बाइक में टक्कर मार दी। टक्कर से बाइक डंपर के बीच में फंस गई। गोविंद रामनिया (Govind Ramaniya) और लक्ष्मी अहिरवार (Laxmi Ahirwar) डंपर की चपेट में आ गए थे। शरीर के दो टुकड़े हो गए थे। पिंकी घटनास्थल से कुछ दूरी पर जाकर गिरी थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने डंपर में फंसी बाइक और क्षत—विक्षित शव निकाले। गोविंद रामनिया के शव दो टुकड़े में थे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide Case: मेडिकल स्टोर के कर्मचारी ने लगाई फांसी

रास्ते में मिली थी दूसरी मृतका

पिंकी ने बताया वह उसके पति के साथ जेके अस्पताल जा रही थी। उसे रास्ते में लक्ष्मी अहिरवार पति शिवचरण उम्र 40 साल निवासी बोरदा मिल गई थी। वह भी जेके अस्पताल में नौकरी करती थी। इसलिए उसको भी सुनील रामनिया ने अपनी बाइक में बैठा लिया था। गोविंद रामनिया पिता रामचरण रामनिया उम्र 40 साल निवासी अवंती बाई स्कूल के पीछे बैरागढ़ चीचली का रहने वाला है। पुलिस ने सुनील रामनिया की शिकायत पर धारा 304ए (लापरवाही से वाहन चलाकर मौत होने) का मुकदमा दर्ज कर लिया है। डंपर इंदौर के रजिस्ट्रेशन नंबर पर चल रहा था।

यह भी पढ़ें: यदि आप बच्चों को कोरोना महामारी में स्कूल भेजने की सोच रहे हैं तो पहले इन बिन्दुओं की जाकर पहले पड़ताल कर ले

पुलिस की ऐसी चूक

पुलिस ने बताया की घटना के वक्त बाइक पर तीन लोग सवार थे। डंपर की चपेट में आने से दो लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। वहीं दुर्घटना के बाद बाइक पर सवार मृतक सुनील की पत्नी पिंकी घायल अवस्था में घर परिजनों के पास पहुंची। देवर को घटना (Bhopal Road Mishap) की जानकारी दी। मृतक के भाई के आधार पर पुलिस ने थाने में एफआईआर दर्ज की है। पुलिस चाहती तो खुद फरियादी बनकर मुकदमा दर्ज कर सकती थी। लेकिन, उसने ऐसा नहीं किया। सूत्रों के अनुसार पिंकी भी दुर्घटना में जख्मी हुई है। उसकी हालत भी नाजुक बताई जा रही है। जिसका इलाज हमीदिया अस्पताल में चल रहा है। भविष्य में अदालत में सुनवाई के वक्त यह सवाल खड़े होंगे।

यह भी पढ़ें:   मुख्यमंत्री आवास में अनियमित बिजली आपूर्ति, इंजीनियर की नौकरी पर खतरा

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!