MP Money Laundering : हवाला का कैरियर चैकिंग के दौरान पकड़ाया

Share

MP Money Laundering : मुंबई के कारोबारी के इशारे में वेतन लेकर कर रहा था काम, आयकर विभाग को सौंपा गया मामला

MP Money Laundering
गिरफ्तार आरोपी राजेश पाल से बरामद साढ़े सत्रह लाख रुपए की रकम के साथ हनुमानगंज थाना प्रभारी

भोपाल। हवाला का एक कैरियर पुलिस के हत्थे चढ़ गया। वह बैग में करीब साढ़े सत्रह लाख रुपए से अधिक की रकम (MP Money Laundering) लेकर जा रहा था। पुलिस के हत्थे वह वाहन चैकिंग के दौरान चढ़ा। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। इस रैकेट के तार मुंबई (Mumbai Hawala Racket) से जुड़ रहे हैं। मामले को पुलिस ने आयकर विभाग (Bhopal Income Tax News) को सौंप दिया है। आयकर की टीम आरोपी से संबंधित जानकारी जुटा रही है।

यह भी पढ़ें : विहिप नेता की हत्या से सुलग रहे जिले में दिग्विजय सिंह ने जाकर यह खुलासा किया
इन कारणों से चढ़ा हत्थे

पुलिस मुख्यालय ने कोरोना महामारी (Covid-19 Effect) के चलते संभावित अपराधों से निपटने के लिए मुहिम चलाने के आदेश जारी किए हैं। इसी आदेश के तहत भोपाल (Bhopal Hindi News) के कई चौराहों पर एक सप्ताह से चैकिंग की जा रही है। इस चैकिंग के दौरान हर दो पहिया वाहनों और कार की तलाशी ली जा रही है। यह काम मंगलवार शाम भोपाल के हनुमानगंज थाना पुलिस भी कर रही थी। तभी बस स्टेंड पर एक बाइक सवार युवक को रोका गया। उससे बाइक के दस्तावेज मांगे गए। जिसको वह पेश नहीं कर सका। संदेह होने पर उसके बैग की तलाशी ली गई। बैग में भारी भरकम रकम (Bhopal Hawala Racket) रखी थी। जिसको देखने के बाद उसको थाने पहुंचाया गया।

यह भी पढ़ें:   MP Political News : इन चार चेहरों की वजह से अटका मंत्रिमंडल विस्तार

भोपाल में रहता था कारोबारी

हनुमानगंज थाना प्रभारी महेंद्र सिंह ठाकुर (TI Mahendra Singh Thakur) ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी राजेश पाल (Rajesh Pal) पिता रामपाल निवासी भीम नगर हैं। उसने बताया कि बाइक उसने कंपनी से खरीदी है। चेचिस नंबर और रजिस्ट्रेशन नंबर अलग (Bhopal Farji Number Ki Bike) होने की वजह से उसको जब्त कर लिया गया है। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह 15 हजार रुपए पर हर्षित वाधवानी (Harshit Wadhwani) के लिए नौकरी करता है। हर्षित वाधवानी फिलहाल मुंबई में रहता है। वह पहले भोपाल में ही रहता था।

यह भी पढ़ें : कम उम्र के बच्चों ने इस तरह से दिया गैंगरेप की घटना को अंजाम

कई कारोबारियों के नाम

राजेश पाल से बरामद रकम 17 लाख, 36 हजार 700 रुपए हर्षित वाधवानी (Harshit Wadhwani Hawala Racket) के लिए जमा किए गए थे। यह रकम उसने भोपाल (Bhopal Karobariyo Ka Kala Dhan) के कई कारोबारियों से लेकर हर्षित वाधवानी (Harshit Wadhwani Income Tax Case) को पहुंचाना था। राजेश पाल ने कुछ कारोबारियों के नामों का खुलासा किया गया है। पुलिस ने मामला आयकर से संबंधित होने पर इसकी जानकारी अफसरों को भेज दी है। आयकर विभाग के अफसर राजेश पाल के मोबाइल नंबर से हर्षित वाधवानी से जुड़े संपर्कों को खंगाल रहे हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Dowry Case: सास-ससुर से मिला प्यार पर पति और ननद देते हैं दुत्कार
Don`t copy text!