Madhya Pradesh Gang Rape: बंदी की पत्नी के साथ सामूहिक दुराचार, झांसा देकर बुलाया था अस्पताल

Share

गैंग रेप के आरोपों में फंसे दो प्रह​री, प्रहरी के दो दोस्त भी वारदात में थे शामिल

Madhya Pradesh Gang Rape Case
सांकेतिक फोटो

राजगढ़। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के जिला राजगढ़ (Rajgarh) के नज​दीक सारंगपुर  उप जेल (Sarangpur Sub Jail) में तैनात प्रहरियों (Jail Guards) ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर गैंग रेप (Madhya Pradesh Gang Rape) किया। जिस महिला के साथ गैंग रेप की यह घटना की गई उसका पति (Prisoner Wife) उसी जेल में बंदी है। आरोपी प्रह​रियों ने बंदी पति के संबंंध में झूठी जानकारी (Fake Information) देकर महिला को अस्पताल बुलाया था। आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

जानकारी के अनुसार गैंग रेप (Rajgarh Gang Rape Case) पीड़ित महिला का पति राजगढ़ उप जेल (Rajgarh Sub Jail) में बंदी है। बुधवार सुबह पीड़ित महिला ने चारों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसमें प्रहरियों हरिराम शुक्ला (Hariram Shukla), माल सिंह(Maal Singh), महिला के मुंह बोले भाई रामचंद्र गुर्जर और उसके भांजे सागर गुर्जर ने उसके साथ सामुहिक बलात्कार किया है। पीड़ित महिला का कहना है कि वह पति से मिलने (Jail Visit) अक्सर जेल में जाया करती थी। वहां पर दो जेल प्रहरी उसको अच्छी नजर से नहीं देखते थे। कई बार उन्होंने उससे बात करने की भी कोशिश की थी। घटना से एक दिन पहले जब ​महिला जेल में पति से मिलने पहुंची तो दोनों प्रहरियों ने उसके साथ अ​श्लील हरकत (Pornographic Act) की थी। हालांकि महिला ने इस संबंध में किसी को कुछ न​हीं बताया। दूसरे दिन महिला के पास जेल के प्रहरी का फोन आया की उसके पति की तबीयत खराब है। वह उसे सारंगपुर अस्पताल ले जा रहे हैं। उन्होंने उसको भी अस्पताल पहुंचने के लिए कहा। महिला को चारों आरोपी रास्ते में किठौर बडल्ली में मिले।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide: अहाते कर्मचारी समेत तीन लोगों ने लगाई फांसी

आरोपियों ने महिला को दबोच लिया। फिर बारी—बारी से उसके साथ सामुहिक बलात्कार (Crime Against Woman ) करते रहे। पीड़ित महिला ने पुलिस को बताया कि बलात्कार के बाद चारों आरोपी वहां से भाग गए थे। इस घटना के बाद पीड़ित महिला ने पति से मिलकर सारी आप बीती बताई। पति ने उसको ​थाने जाकर चारों आरोपियों के खिलाफ गैंग रेप का मामला दर्ज कराने के लिए बोला। पीड़ित महिला को मेडिकल के लिए अस्पताल भेज दिया है। जिसकी रिपोर्ट पुलिस को अब तक नहीं मिली है। यह मामला जेल प्रबंधन को पता चलने के बाद आरोपी जेल प्रहरियों को सस्पेंड कर दिया है। फिलहाल इस मामले के आरोपियों ​की गिरफ्तारी पुलिस नहीं कर सकी है।

Don`t copy text!